सिंधु जल समझौते पर आज बातचीत करेगा भारत-पाकिस्तान, भारतीय प्रतिनिधिमंडल पहुंचा इस्लामाबाद


लाहौर : उड़ी हमले के बाद सिंधु जल समझौते पर भारत और पाकिस्तान के बीच टूटी बातचीत फिर शुरू होने जा रही है। सोमवार और मंगलवार को दो दिन की बातचीत के लिए भारतीय प्रतिनिधिमंडल इस्लामाबाद पहुंच गया है। इस दल में विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के साथ-साथ तकनीकी विशेषज्ञ भी शामिल हैं। उच्च पदस्थ सूत्रों ने साफ कर दिया है कि बैठक के दौरान भारत के हितों के साथ कोई समझौता नहीं किया जाएगा।  

भारत ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि सिंधु समझौते के तहत मिले अधिकार से वो पीछे नहीं हटेगा। दो दिनों की इस बैठक में पाकिस्तान पकल डुल, लोअर कलनई और मियार में बन रहे पनबिजली प्रोजेक्ट्स पर अपने ऐतराज उठाएगा। इसके अलावा पाकिस्तानी सरकार भारत से बाढ़ से जुड़ी जानकारी साझा करने की मांग भी कर सकती है। आपको बता दें कि पाकिस्तान लगातार सिंधु से जुड़ी नदियों पर भारत की परियोजनाओं का विरोध करता रहा है और विश्व बैंक से मध्यस्थता की गुहार लगाता रहा है।

दरअसल, नदी परियोजनाओं पर विवाद को दूर करने के लिए भारत और पाकिस्तान ने सिंधु जल आयुक्त बना रखा है। विवाद को लेकर दोनों देशों के आयुक्तों की छह महीने में बैठक होना तय किया गया है। लेकिन पिछले साल 18 सितंबर को उड़ी में हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान के साथ सभी द्विपक्षीय बातचीत को स्थगित कर दिया था। इसमें सिंधु जल समझौते पर बातचीत भी शामिल था। पाकिस्तान सिंधु जल समझौते के मध्यस्थ विश्व बैंक के सामने भी ये मसला उठा चुका है। पाकिस्तान के रुख को देखते हुए बैठक से सकारात्मक नतीजे की उम्मीद नहीं है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...