एक इस्लामिक मुल्क ने रोहिंग्याओं के खिलाफ बुलंद की आवाज तथा बोला- “रोहिंग्या, तुमको यहाँ से जाना ही होगा”

देश की सुरक्षा एजेंसियों की चेतावनी के बाद भी हिंदुस्तान में आज भी तमाम कथित धर्मनिरपेक्षता व मानवता के पैरोकार राजनेता तथा बुद्धिजीवी रोहिंग्या घुसपैठियों के समर्थन में ताल ठोंक रहे हैं कि इनको वापस न भेजा जाए..जबकि दूसरी तरफ संसार के तमाम देशों ने रोहिंग्याओं के लिए अपने अपने दरवाजे बंद कर दिए हैं. इस बीच रोहिंग्याओं को लेकर एक इस्लामिक मुल्क की मुखिया ने एलान कर दिया है कि अब रोहिंग्याओं को उनके देश से वापस जाना ही होगा.

खुलने लगी श्रीलका आतंकी हमले की परतें.. सामने आ रहा पाकिस्तानी कनेक्शन

खबर के मुताबिक़, इस्लामिक मुल्क बांग्लादेश की प्रधामंत्री शेख हसीना ने साफ़ कर  दिया है कि रोहिंग्याओं को उनका देश छोड़कर अपने मूल देश वापस लौटना ही होगा. शेख हसीना ने यह बात यूएई की स्टेट फॉर इंटरनेशनल कोऑपरेशन की मंत्री राइम इब्राहिम से मुलाकात के दौरान कही. हसीना ने यूएई की मंत्री को रोहिंग्या राज्य के मामले में संक्षिप्त विवरण दिया और कहा कि कई अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों के साथ बांग्लादेश सरकार रोहिंग्या शरणार्थियों की मदद कर रही है लेकिन रोहिंग्याओं को अपने देश लौटना ही होगा.

जिस पाकिस्तान के साथ बहिष्कार के समय सेक्यूलर श्रीलंका ने खेला था मैच.. अब उसी पाकिस्तान ने दिया श्रीलंका को ये रिटर्न

हसीना ने कहा कि म्यांमार और बांग्लादेश के बीच इस मसले पर चर्चा जारी है और हमने प्रत्यर्पण के समझौते पर दस्तखत भी कर दिए हैं. लेकिन प्रत्यर्पण प्रक्रिया की शुरूआत होना अभी शेष है. शेख हसीना ने कहा कि बांग्लादेश सरकार रोहिंग्या शरणार्थियों को बेहतर सुविधाओं के साथ अस्थायी शिविरों के निर्माण के लिए एक द्वीप विकसित कर रही है लेकिन अब ये असंभव है तथा रोहिंग्याओं को अपने वतन वापस लौटना ही होगा.

एक चेतावनी भारत ने पहले ही दी थी सेक्यूलर श्रीलंका को.. लेकिन अब वो आधिकारिक रूप से बोला कि- “काश हम मान लिए होते”

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post