सोमालिया के होटल में भीषण इस्लामिक आतंकी हमला.. 26 लोगों की मौत


आखिर वो कौन सी सोच है जिसका उद्देश्य सिर्फ और सिर्फ निर्दोष लोगों की जान लेना होता है, खून बहाना होता है? कभी ये सोच मजहबी-धार्मिक स्थलों पर हमला करके निर्दोषों का लहू बहती है तो कभी होटलों/स्कूलों में हमले कर लोगों की जान लेती है? जब ये सोच ऐसा करने में असफल होती है तो अपने ही इबादतगृह में हमला करती है तथा लोगों की जन लेती है? आखिर ये सोच कहाँ से पैदा होती है जिसे इंसानों की जान लेने में आनंद आता है? ये सोच कभी हिंदुस्तान, कभी अफगानिस्तान, कभी सीरिया, कभी ब्रिटेन, कभी जर्मनी, कभी फ़्रांस तो कभी अमेरिका को बम विस्फोटों से दहला देती है तथा सेकड़ों की संख्या में निर्दोष बच्चों, बुजुर्गों, युवाओं, महिलाओं को मौत के घाट उतार देती है.

बिजनौर के मदरसे में हथियार मिलने के बाद बोले वसीम रिज़वी- “जल्द बंद न हुए ये आतंक के अड्डे तो समय 20 साल से ज्यादा नहीं बचा”

इसी क्रूरतम व मानवता की हत्यारी सोच का शिकार सोमालिया हुआ है जहाँ के एक होटल में इस्लामिक आतंकी दल अलकायदा के समूह अल शबाब संगठन द्वारा किए गए एक आत्मघाती विस्फोट और उसके बाद अंधाधुंध फायरिंग में 26 लोगों की मौत हो गई है. मीडिया सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि दक्षिण सोमालिया के जिस होटल में ये आतंकी हमला हुआ है, वहां काफी राजनेता और बड़ी हस्तियाँ मौजूद थीं, जो जल्द ही होने वाले धार्मिक चुनावों में हिस्सा लेने वाले थे.

रात को शादीशुदा प्रेमिका के घर में खिड़की से घुसना चाहा नियाज शेख ने.. अचानक फिसला पैर और धड़ाम से गिरा नीचे, हुई मौत

रिपोर्ट्स के अनुसार, अधिकारियों ने बताया कि एक आत्मघाती हमलावर ने दक्षिण सोमालिया के किसमायो शहर के बेहद ही लोकप्रिय मेदिना होटल में विस्फोटकों से भरी एक गाड़ी घुसा दी. इसके बाद आधुनिक हथियारों से लैस कई बंदूकधारी इस्लामिक आतंकी गोलीबारी करते हुए होटल में घुस गए तथा लोगों की लाशें बिछा दी. इस्लामिक आतंकी दल अलकायदा से जुड़े समूह अल शबाब ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है. वह पहले भी कई आतंकवादी हमलों को अंजाम दे चुका है. सोमालिया के एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि इस हमले में अब तक 26 लोगों की मौत हो चुकी है तथा चारों हमलावरों को भी हमने मार गिराया है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...