इजराइल ने खुद बताया वो समय जब मात्र साढ़े तीन मिनट में उसने मार गिराए थे 350 वो फिलिस्तीनी जो खतरा थे उसके देश के लिए

इस्लामिक आतंक के खिलाफ अपने कड़े रुख के कारण सम्पूर्ण इस्लामिक जगत का सबसे बड़े दुश्मन माने जाने मुल्क इजराइल ने पहली बार दुनिया के सामने स्वीकार किया है कि एक समय उसने सिर्फ तीन मिनट में 300 फिलिस्तीनी उन्मादियों को मार डाला था. इजराइल के पूर्व प्रधानमंत्री और रक्षा मंत्री एहुद बराक ने गर्व में फिलिस्तीनियों के नरसंहार को स्वीकार करते हुए कहा है कि उन्होंने साढ़े तीन मिनट में 300 फिलिस्तीनियों को शहीद कर दिया था. इबरानी भाषा में प्रसारित होने वाले टीवी 7 को साक्षात्कार देते हुए उन्होंने कहा कि अगर सरकार मेरे हाथ में हो या मुझे रक्षामंत्री बना दिया जाए तो कुछ मिनटों में गाजा में फिलीस्तीनियों पंक्ति मातम बिछा दूंगा. उन्होंने कहा कि जब मैं रक्षामंत्री था तो गाजा पट्टी में साढ़े तीन मिनट में 300 फिलीस्तीनी जो “हमास” कार्यकर्ता थे, मार दिए गए थे.

पूर्व इजरायली प्रधानमंत्री ने वर्तमान सरकार और प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की तीव्र आलोचना करते हुए कहा कि कैबिनेट में होने वाले मतभेदों बचगाना और कैबिनेट या सुरक्षा समिति को इस तरह के मतभेदों में उलझना कोई औचित्य नहीं. एहुद बराक ने आरोप लगाया कि नयतन याखो पास हमास से निपटने की कोई रणनीति नहीं है तथा वर्तमान इजराइल सरकार ने गाजा के प्रदर्शनकारियों और हमास के सामने हथियार डाल रखे हैं.  उन्होंने कहा कि इजराइल सरकार को चाहिए कि सेना को आदेश दे कि वह गाजा पट्टी में इजराइल के दुश्मनों को मौत की नींद सुला दें.

Share This Post