कश्मीर की नीति पर सीख दे गया इजराइल… पत्थर मार रहे 24 फिलिस्तीनियों को सदा के लिए किया खामोश

देश के दुश्मनों के साथ किस तरह से पेश आना है, ये इजराइल से सीखना चाहिए. हमेशा से इस्लामिक आतंकियों के खिलाफ आक्रामक कार्यवाई के लिए जाना जाने वाला इजराइल एक बार पुनः फिलिस्तीनी पत्थरबाजों पर कहर बनकर टूटा है तथा 24 फिलिस्तीनी पत्थरबाजों को मौत के घाट उतार दिया है. इजराइल की ये कार्यवाई भारत सरकार तथा उन मानवाधिकार के ठेकेदारों के लिए भी एक सीख के समान है जो कश्मीरी पत्थरबाजों को भटका हुआ नौजवान बताते हैं.

खबर के मुताबिक़, गाजा पट्टी पर विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों पर इजरायली नौ सैनिकों की गोलाबारी में सोमवार को कम से कम 24 फलस्तीनियों की मौत हो गयी तथा कई अन्य घायल हो गये.  संवाद समिति कतर की रिपोर्ट के अनुसार इजरायली नौ सैनिकों के द्वारा दागे गये आंसू गैस के गोले के कारण कई फलस्तीनियों के दम घुट गये. गाजा पट्टी में’ग्रेट रिटर्न मार्च’के लिए हायर नेशनल कमेटी के द्वारा आयोजित शांति जुलूस में तटीय क्षेत्र के पूर्वी हिस्सों के सैकड़ों फलस्तीनियों ने भाग लिया था.

बताया गया है कि प्रदर्शनकारी तट के किनारे एकत्र होने के लिए नौका में सवार होकर गाजा जल क्षेत्र पहुंचे तथा प्रदर्शन शुरू किया तो इजरायली नौ सैनिकों ने उनपर गोली चला दी, जिसमें 24 फिलिस्तीनी उन्मादी मारे गये. इजराइल की सेना की इस कार्यवाई के बाद हायर नेशनल कमेटी ने कहा फलस्तीनी अपने वैध अधिकारों को लेकर संघर्ष को जारी रखने के लिए दृढ़ संकल्प हैं तो वहीं इजराइल का कहना है कि इजराइल की सेना अपने देश की एकता तथा अखंडता कायम रखने के लिए किसी भी हद तक जाएगा.

Share This Post

Leave a Reply