Breaking News:

अब 10 साल की खिलौनों से खेलती हिन्दू बच्ची उठा ली गई निकाह के लिए.. इसी पाकिस्तान की तारीफ की है शरद पवार ने

क्रूरता का ऐसा उदहारण शायद ही कहीं देखने को मिल सकता है जहाँ खिलौनों के साथ खेलती बच्चियों को जबरन उठाया जा रहा हो निकाह करवाने के लिए और उसको मुसलमान बनाने के लिए . अफ़सोस की बात ये है कि इन बच्चियों की चीखो को दबाने के लिए कुछ तथाकथित सेक्युलर नेताओं ने पाकिस्तान की तारीफ के ढोल पीटने शुरू कर दिए हैं और भारत से ही उस पाकिस्तान को शराफत का सर्टिफिकेट दे रहे हैं जिसे अमेरिका और रूस तक आतंक की फैक्ट्री मान रहे हैं .

एक बार फिर से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसके बाद ये कहा जा सकता है कि धर्मनिरपेक्षता की सभी सीमाएं शायद भारत की सीमाओं से बाहर जाते ही खत्म हो जाती हैं . ताजा जानकारी के अनुसार सिंध स्थित इस्लाम कोट की १० साल की हिन्दू लडकी को अगवा कर उसका जबरन निकाह करा दिया गया है। ये वही सिंध है जहाँ इस्लाम के पैगम्बर मोहम्मद के अपमान को आधार बना कर हिन्दुओ पर लगातार हो रहे हैं हमले और जलाए जा रहे हैं उनके घर ..

बीते दिनों एक सिख लडकी का जबरन धर्म परिवर्तन करवाने के बाद अब ऐसा ही एक ओैर मामला सामने आया है।कुछ दिन पहले पाकिस्तान के सिंध में एक हिन्दू लडकी को अगवा कर जबरन उसकी शादी मुस्लिम पुरुष के साथ करा दी गई थी। वहीं इससे पहले ननकाना साहिब से १९ साल की लडकी को भी अगवा कर उसका धर्मपरिवर्तन करवा दिया गया था, जिसपर काफी बवाल हुआ था। लेकिन भारत के कुछ नेताओं की तारीफ मिलने के बाद पाकिस्तानी चरमपंथियों के हौसले बुलंद हो गये हैं ..

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW