मलेशिया के प्रधानमन्त्री से मिलने के बाद मोदी ने जो मुद्दा उठाया वो साबित करता है कि आतंकवाद को जड़ खत्म करने एक लिए कितने गम्भीर हैं वो


जिस प्रकार से कभी शिक्षा और ज्ञान के साथ वैभव और समृद्धि के क्षेत्र में भारत विश्वगुरु हुआ करता था ठीक वैसे ही अब दुनिया भरके लिए नासूर बनते जा रहे एक वर्ग और एक सोच द्वारा महामारी की तरह फ़ैल रहे  आतंकवाद को खत्म करने के लिए भारत सबसे अग्रणी देश बनता जा रहा है . कभी भारत के कई हिस्सों में ब्लास्ट कर के सत्ता को चुनौती देने वाले तमाम आतंकी अब भारत की सीमाओं पर या तो पकड़ लिये जा रहे हैं या तो मार गिराए जा रहे हैं . कुछ ऐसे भी हैं जो देश छोड़ कर भाग गये हैं .

कौन है बच्चा चोरी जैसी अफवाहों के पीछे ये साबित हुआ उत्तराखंड के मंगलौर में..

देश छोड़ कर भागे उन तमाम भगोड़ों में एक भगोड़ा है दुर्दांत जिहादी जाकिर नाईक.. ये वो जिहादी है जिसका सबसे पहले पर्दाफाश सुदर्शन न्यूज ने पूरे प्रमाणों के साथ किया था . इस अपराधी को जब मंचो पर दिग्विजय सिंह जैसे नेता सम्मानित करते थे तब सुदर्शन न्यूज ने इसकी असलियत को सबके सामने तमाम विरोधो को झेलते हुए भी रखा था .. आखिरकार उसका सार्थक परिणाम देखने को मिला और इस आतंकी की पोल खुलते ही ये देश छोड़ कर भाग निकला है .

रामायण को काल्पनिक काव्य और वेदों को नकारने के बाद अब मुस्लिम पक्ष अदालत में मस्जिद के लिए दे रहा ये दलीलें

अब इसी आतंकी की तरफ खुद से नरेंद्र मोदी की नजर गई है और उन्होंने मलेशिया के प्रधानमन्त्री से इस आतंकी को उनके देश में पनाह देने का मुद्दा उठाया है . मोदी की इस पहल के बाद अब इस आतंकी के भारत में वापस लौटने और उसके कुकर्मो की सजा मिलने की संभावना बढ़ गई है.. भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारतीय समय के अनुसार आज सुबह व्लादिवोस्तोक में जापान के पीएम शिंजो आबे से मिलने के बाद मलेशिया के पीएम महातिर बिन मोहमम्द से मिले हैं..

बेटे को अजमेर की ताबीज पहनाने वाले सेकुलर पिता सुनील सिंह ने झगड़े के बाद कहा – “हिन्दुओ ने मुसलमान समझ कर मार डाला”

विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया कि मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद से द्विपक्षीय वार्ता के दौरान पीएम मोदी ने जाकिर नाइक का मुद्दा उठाया है ..दोनों देशों में तय हुआ है कि अब अधिकारी इस मसले पर लगातार संपर्क में रहेंगे।इस्टर्न इकोनोमिक फोरम के पीएम मोदी मुख्य अतिथि हैं.. इस फोरम के लिए 50 सदस्यीय कारोबारी प्रतिनिधिमंडल भारत से रूस गया है। जापानी PM जल्द ही भारत दौरे पर आएंगे, उनके दौरे को लेकर भी बात की गई।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...