Breaking News:

जब सिद्धार्थ हिन्दू था तब वो सेकुलर था.. फिर उसने कबूला इस्लाम और बन गया अबू रूमायशा. अब वो है सीरिया का सबसे दुर्दांत आतंकी

एक ऐसा घटनाक्रम जिसको दबाने की हर सम्भव कोशिश की गयी.. किसी का आमूलचूल जीवन कैसे पलटता है इसको कोई भी उस सिद्धार्थ के जीवन से जान सकता है जो पहले एक सेकूलर और कमाने खाने वाला साधारण इंसान था लेकिन बाद में उसके जीवन में आया ऐसा बदलाव जिसने न सिर्फ उसको बदल कर रख दिया बल्कि पूरी दुनिया में उसकी एक ऐसी काली छाया छोड़ी जो आज भी बन गई है कई मौतों और बलात्कार की वजह .. ये सत्य घटना है एक आतंकी की .

बजरंग दल के प्रखंड संयोजक को गोलियों से भूना गया.. नफरत इतनी कि मारी 9 गोलियां

उसका नाम सिद्धार्थ धर था, उसने ब्रिटेन में अपने परिवार के साथ कमाने खाने का इंतजाम आदि करने के लिए पूरा इंतजाम कर रखा था . वो सेकुलर था और रोजी रोटी ही उसके लिए धर्म थी और कभी भी हिन्दू होने के नाते किसी अन्य मत और मजहब के खिलाफ गलत नहीं सोचता था . उसकी बहन कनिका धर भी उसके इस जीवन का सबसे बड़ी प्रमाण है जो आज भी ब्रिटेन में रहती है . सब कुछ तेजी से बीत रहा था और किसी को पता भी नहीं था कि आगे क्या होने वाला है .

जमीन कब्ज़ा कर के जबरन नमाज़ पढ़ने की आग में झुलस गया बंगलादेशी दरिंदो के बोझ तले दबा असम.. उतरी पैरामिलिट्री

सेकुलर सिद्धार्थ धीरे धीरे अपने ही देश में रहने वाले कुछ कट्टरपन्थियो की संगति में आया . उसको धीरे धीरे ऐसा कुछ समझाया गया कि उसके लिए इस्लाम कबूल करना ही ठीक होगा .. फिर अपने परिवार आदि की चिंता करने वाला सिद्धार्थ धीरे धीरे मौत के बाद की दुनिया में विश्वास करने लगा. फिर उसने इस्लाम कबूल किया और लगातार ऐसी घटनाओं में शामिल पाया जाने लगा जिसे ब्रिटेन में अपराध माना जाता है .. और अंत में समय निकाल कर वो सीरिया चला गया .

भोजपुरी एक्टर निरहुआ के साथ उतरे और भी भोजपुरी कलाकार.. अखाड़ा बना आज़मगढ़

उसको सीरिया में आतंकियों और फौजियों की लड़ाई इस्लाम के लिए जंग लगी और वो परिवार ले कर सीरिया पहुच गया .. दुर्दांत आतंकी जॉन जिहादी के मारे जाने के बाद उसकी गद्दी उसको मिली और वो इतना बड़ा खूनी दरिंदा बन चुका था जिसको इंसानों का लहू देखना सुकून का सबब लगता था . उसने अपना नाम अबू रुमैसाह रख लिया है। 2014 में रुमैसाह को यूके से पुलिस बेल मिली थी जिसके बाद वह फरार होकर अपनी पत्नी और बच्चों के साथ सीरिया चला गया था।

गरीब मजदूर समझ कर घर का काम करवाने ले आई थी वो आकिल, अब्दुल और शनीफ़ को..उसे नही पता था कि आगे क्या होगा

अमेरिकी विदेश विभाग ने कहा है कि माना जाता है कि वह जनवरी 2016 में आइएसआइएस के उस वीडियो में नकाबपोश आतंकी था जिसमें ब्रिटेन के लिए जासूसी के आरोपी कई कैदियों की जान ली गयी थी. सेक्स स्लेव बनाई गई एक यजीदी लड़की निहाद बरकात ने मई 2016 में इंडिपेंडेंट को बताया था कि उसे धार ने ही किडनैप किया था और आईएसआईएस के गढ़ मोसुल ले गया था। उसकी बहन ने ब्रिटिश सेना से आग्रह किया कि वह उसके भाई को मारने के लिए ड्रोन का उपयोग नहीं करें क्योंकि उसके भाई का ब्रेनवाश कर दिया गया है। ब्रिटिश मुस्लिम टीवी को एक नए डॉक्यूमेंट्री के लिए दिए एक इंटरव्यू में बरकत ने बताया कि अबू बना सिद्धार्थ उन विदेशी लड़ाकों में शामिल था, जिन्होंने उसे यौन दासी बनाया था। बरकत ने बताया, ‘जब मुझे किरकुक के पास पकड़ा गया तब वे मुझे मोसुल से अन्य नेता के पास ले गए। उसका नाम अबू धर था। हर दिन वह मुझे कहता था कि मुझे दूसरे व्यक्ति से शादी करनी है।’

ममता बनर्जी का मीम बनाया तो युवती को ठूंस दिया जेल में.. मौन हैं “फ्रीडम ऑफ स्पीच” के पैरोकार

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

http://sudarshannews.in/donate-online
Share This Post