“अमेरिका में मोदी के शो से क्या मिला ?” जैसा सवाल करने वालों को दुर्दांत आतंकी दल “तालिबान” ने दिया वो जवाब जो किसी ने सोचा भी नहीं था

अमेरिका में नरेंद्र मोदी के अद्भुत और अद्वितीय शो का विरोध भले ही वोटबैंक की राजनीति के चलते हुआ और न सिर्फ मोदी से बल्कि पूरी भाजपा से सवाल किया जाता रहा की क्या मिला इस शो से .. शुरुआत में भले ही ऐसा सवाल करने वाले कुछ लोगो के मन में ये विचार डालने में सफल रहे हों पर अब जो कुछ भी निकल कर सामने आ रहा है उसको जान कर निश्चित रूप से इतना सवाल करने वाले कई लोग लाजवाब हो सकते हैं . उन प्रश्नों के उत्तर आये हैं आतंकवाद से जूझ रहे अफगानिस्तान से ..

विदित हो की भारत और अमेरिका के मजबूत हो रहे सम्बन्धो के चलते धारा ३७० से ले कर बालाकोट एयर स्ट्राइक तक में दुनिया भारत के साथ खड़ी दिखाई दी.. चीन से तनातनी के दौरान भी अमेरिकी लड़ाकू विमानों ने चीन सागर के ऊपर से उड़ान भर कर ये जाहिर किया था की अगर युद्ध हुआ तो अमेरिका किस के साथ खड़ा दिखाई देगा.. लेकिन उसके बाद भी लगातार सवालों के बाद अब परोक्ष रूप से एक जवाब संसार के सबसे खूंखार आतंकी समूहों में से एक तालिबान की तरफ से आया है .

ध्यान देने योग्य है की अफगानिस्तान में अमेरिकी दबाव के चलते कुख्यात आतंकी दल तालिबान ने अपहरण किये गये भारत के 3 इंजीनियरों को मुक्त कर दिया है .. इन 3 भारतीय इंजीनियरों के परिवार वालों ने तमाम कोशिशें करने के साथ किसी भी हालत में अपने परिजन को वापस लाने की मांग की थी जो अब पूरी हो गई है.. अमेरिका ने तालिबान के साथ अपनी बातचीत के दौरान भारत के भी इंजीनियरों को तत्काल रिहा करने की मांग की थी जो अमेरिका का भारत के प्रति लगाव दर्शाता है ..

अफगानिस्तान में काम करने वाले तीन भारतीय इंजीनियरों को 2018 में तालिबान द्वारा अपहरण कर लिया था. इसके बदले अमेरिका ने अफगान तालिबान के प्रमुख नेता शेख अब्दुल रहमान और मौलवी अब्दुल राशिद सहित कई तालिबानियों को मुक्त किया है. ये दोनों की नेता 2001 में अमेरिका के हस्ताक्षेप से पहले तालिबनी शासन काल में कुनार और निमरोज प्रदेश के गर्वरन के रूप में काम कर चुके हैं. अमेरिका ने अपने लिए कुछ मांगने के साथ भारत के भी इंजीनियरों की मुक्ति मांग तालिबान के आगे रखी इसको सुन कर पाकिस्तान को यकीन भी नहीं हो रहा और दुनिया भारत और अमेरिका के एक नये  युग को साफ देख रही है .

रिहा हुए इंजीनियरों के परिवार  वालों को ख़ुशी से यकीन भी नहीं हो रहा है की वो अपने परिवार से मिल पायेंगे और ऐसी कैद से वापस आएंगे जहां से लौटना असंभव सा लग रहा था .. सभी इंजीनियरों के परिवार वालों ने भारत के प्रधानमन्त्री श्री नरेंद्र मोदी , भारत के विदेश मंत्री श्री एस जयशंकर के साथ अमेरिका के   राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप व् उनके प्रशासन का  धन्यवाद किया है . फिलहाल दुनिया इसको भारत अमेरिका के रिश्तो के नये युग के रूप में देख रही है .

 

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे लिंक पर जाएँ –

http://sudarshannews.in/donate-online/

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW