इस बार संयुक्त राष्ट्र में भारत ने किया वो जो अब तक कभी नहीं हुआ… ये कदम पहला संकेत है इस्लामिक आतंकवाद को जड़ से उखाड़ने का

अब तक के इतिहास में भारत ने संयुक्त राष्ट्र में वो किया है, जो भारत की तरफ से आज तक कभी नहीं किया गया. संयुक्त राष्ट्र में भारत का ये रुख तथा ये कदम इस्लामिक आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में काफी अहम् माना जा रहा है. आपको बता दें कि भारत ने अपने अब तक के रुख से हटते हुए संयुक्त राष्ट्र की आर्थिक और सामाजिक परिषद में इजरायल के पक्ष में एक प्रस्ताव के समर्थन में मतदान किया है. ये पहली बार है जब भारत ने इजरायल के पक्ष में वोटिंग की है.

एक और नाबालिग हुई दरिंदगी का शिकार.. बच्चियों के खिलाफ सामने आये नए दरिंदों का नाम वासिफ व इसरार

दरअसल, इजरायल संयुक्त राष्ट्र में एक प्रस्ताव लाया था जिसमें फिलिस्तीन के एक गैर-सरकारी संगठन “शहीद” को सलाहकार का दर्जा दिए जाने पर आपत्ति जताई गई थी. इजरायल इस संगठन को इस्लामिक आतंकी संगठन मानता है. इजरायल ने कहा था कि संगठन ने हमास के साथ अपने संबंधों का खुलासा नहीं किया था. गत 6 जून को हुई वोटिंग में इजरायल के पक्ष में भारत के अलावा अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, जापान, ब्रिटेन, दक्षिण कोरिया और कनाडा ने मतदान किया. वहीं चीन, साऊदी अरब, पाकिस्तान सहित कुछ अन्य देशों ने फिलस्तीन के इस संगठन के पक्ष में वोट किया. शहीद को संयुक्त राष्ट्र में पर्यवेक्षक का दर्जा देने का प्रस्ताव 28-14 के अनुपात से खारिज हो गया.

खुद TMC नेताओं ने दिया हिंदू होने का सबूत… कानून मंत्री के सामने हुआ वो सब जिस पर भड़क जाती हैं ममता बनर्जी

यह पहली बार है जब भारत ने दो दशक पुराने सिद्धांत से अपने कदम पीछे खींच लिए हैं. जबकि अब तक भारत इजरायल और फिलस्तीन दोनों को अलग और स्वतंत्र देशों के रूप में देखता रहा है. भारत का पूर्व रुख पश्चिम एशिया में शांति लाने की कोशिश के तहत कायम था. लेकिन संयुक्त राष्ट्र में बदली हुई परिस्थितियों में भारत ने इजरायल के पक्ष में वोटिंग करने का फैसला लिया. चूँकि इजरायल को इस्लामिक आतंक के खिलाफ बेहद ही आक्रामक रुख के लिए जाना जाता है, इसलिए UN में पहली बार इजरायल के पक्ष में भारत की वोटिंग को काफी अहम् माना जा रहा है.

बी.एड डिग्री धारकों को योगी सरकार का शानदार तोहफा.. बड़े रोजगार के अवसर

इसके बाद इजरायल ने भारत का आभार जताया है. भारत में इज़रायल की राजदूत माया कदोष ने ट्वीट कर भारत का आभार जताया. उन्होंने लिखा, ‘संयुक्त राष्ट्र में इजरायल के साथ खड़ा होने और पर्यवेक्षक का दर्जा हासिल करने के आतंकवादी संगठन शहीद के अनुरोध को खारिज करने के लिए भारत का लाख लाख शुक्रिया. हम एक साथ मिलकर उन आतंकवादी संगठनों के खिलाफ कार्रवाई करना जारी रखेंगे जो नुकसान पहुंचाना चाहते हैं.’

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share