2 मजहबो के जिस धर्मयुद्ध को बताया था सुरेश चव्हाणके जी ने बिंदास बोल में अब उसी पर लगी मुहर श्रीलंका के रक्षामंत्री द्वारा

ईसाईयत और इस्लाम के कट्टरपन्थियो के बीच जिस धर्मयुद्ध की बात सुदर्शन न्यूज के प्रधान सम्पादक सुरेश चव्हाणके ने अपने बिंदास बोल में कही थी अब लगभग उस को ही स्वीकार लिया है श्रीलंका के उच्चाधिकारियों ने . जैसे ही न्यूजीलैंड में हमला हुआ था वैसे ही सुरेश चव्हाणके जी ने इसको २ सम्प्रदायों के बीच धर्मयुद्ध शुरू होना बताया था .. न्यूजीलैंड में एक ईसाई द्वारा की गयी गोलीबारी के बाद अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर चरमपंथी सामग्री डालनी शुरू कर दी है।

पवित्र देवभूमि प्रयागराज के दुर्दांत अपराधी अतीक अहमद को अदालत ने दिन में दिखाए तारे.. सभ्य समाज में हर्ष की लहर

अब उसी बात पर लगभग मुहर लगाते हुए श्रीलंका के रक्षामंत्री रुवन विजेवर्दने ने मंगलवार को कहा कि ईस्टर रविवार को हुए आत्मघाती हमले, मार्च में न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च की मस्जिदों में हुई गोलीबारी का बदला था . ये बयान खुद में ही साबित करता है कि दोनों मजहबो के कट्टरपंथी तत्व एक दूसरे के लिए हमलावर हो चुके हैं .. लेकिन यहाँ बड़ा सवाल ये उठता है कि क्या न्यूजीलैंड से चला ये युद्ध श्रीलंका तक आने के बाद रुक जाएगा या अभी इसका और भी वीभत्स रूप देखने को मिलने वाला है ?

साध्वी प्रज्ञा के टार्चर को सही बताते हुए चुनाव लडती 2 पार्टियों ने उड़ाया उनकी चीखों का मजाक

श्रीलंका के मंत्री विजेवर्दने ने संसद के विशेष सत्र में कहा कि जांचकर्ताओं ने कहा है कि ये हमले क्राइस्टचर्च में मुसलमानों के खिलाफ हुए हमले की अनुक्रिया में किए गए। क्राइस्टचर्च हमले में 50 लोग मारे गए थे। माना जा रहा है कि उसी के जवाब में किये गये श्रीलंका के आत्मघाती हमले में अब तक 321 लोगों की मौत हो चुकी है। समाचार एजेंसी डेली मिरर के अनुसार, उन्होंने स्वीकार किया कि रक्षा प्रणाली कमजोर थी और कहा कि सरकार सभी आतंकी समूहों के खात्मे के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगी।

भारतीय सेना के बाद अब भारत की ख़ुफ़िया एजेंसियों ने किया कुछ ऐसा जो दुनिया को चौंका गया .. मामला श्रीलंका इस्लामिक आतंकी हमले से जुड़ा हुआ

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post