म्यन्मार के बौद्धों का साथ दिया था मोदी सरकार ने.. अब बौद्धों के मुखिया दलाई लामा का पाकिस्तान को ये साफ संदेश


चाहे चीन की तिब्बर पर दिखाई गई जोर जबरदस्ती हो या म्यन्मार में बौद्धों के हत्यारे रोहिंग्याओं के समय म्यन्मार के हालातो की हो , भारत सरकार ने हमेशा सच का साथ दिया था और उसी सच के साथ के चलते तिब्बत और म्यन्मार के बौद्ध भारत के अभिन्न अंग बने रहे.. अभी हाल में ही जब म्यन्मार मामले में संसार के तमाम ईसाई देश अपने पोप का मन भांप कर सच जान कर भी रोहिंग्याओ का साथ दे रहे थे तब ठीक उसी समय मोदी सरकार ने बौध्दो का पक्ष लिया था .

जोर पकड रही “मुस्लिम फैमिली लॉ की मांग” .. जानिये आखिर क्या है मुसलमानों से जुड़ा ये क़ानून ?

उस समय हिन्दुओ के सबसे बड़े चेहरों में माने जाने वाले योगी आदित्यनाथ तक ने म्यन्मार की यात्रा की और अब जब भारत और पाकिस्तान के बीच तनातनी चरम पर हो उस समय बौद्धों के सर्वोच्च मुखिया दलाई लामा ने पाकिस्तान को दिया है एक साफ संदेश जो इशारा है कि इस समय बौद्ध किस के साथ हैं .. जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाये जाने के बाद से ही भारत-पाकिस्तान के रिश्ते में एक अलग तरह की तल्खी देखी जा रही है। पाकिस्तान लगातार जुबानी बादशाहत दिखाकर भारत को डराने की कोशिश कर रहा है।

पुलिस की चिंता करने वाले पहले गृहमंत्री बने अमित शाह.. बोले – “ये वो बल है जिसके 34 हजार जवानो ने देश के लिए बलिदान किया, बदला जायेगा इसका ढांचा”

यद्दपि पाकिस्तान बेहतर ढंग से ये जानता है कि भारत की सैन्य शक्ति के आगे उसकी हस्ती कितनी है ..कश्मीर में पाकिस्तान की बौखलाहट पर दलाई लामा ने कहा कि पाकिस्तान भारत से कभी जीत नहीं सकता है। उन्होंने कहा, पाकिस्तान की हालत खस्ता है। इमरान खान भाषण में भले ही जोश दिखा रहे हो, लेकिन सच्चाई से वह भी वाकिफ है। इमरान खान जानते हैं कि अगर जंग हूई तो पाकिस्तान भारत को हरा नहीं सकता है। ऐसे में बेहतर होगा कि पाकिस्तान भारत से सौहार्दपूर्ण संबंध ही बनाए रखें।

म्यन्मार के बौद्धों का साथ दिया था मोदी सरकार ने.. अब बौद्धों के मुखिया दलाई लामा का पाकिस्तान को ये साफ संदेश

दलाई लामा के इस बयान के बाद संसार के तमाम बौद्ध देशो ख़ास कर जापान , म्यन्मार थाईलैंड आदि का रुख स्वत: ही भारत की तरफ मजबूत हो गया है . अभी म्यन्मार के आंतरिक तनातनी मामले में पाकिस्तान से सबसे ज्यादा म्यन्मार का विरोध किया था.. अब उसको एक संदेश मिल गया है कि जंग के हालात बनने में कौन उसके साथ होगा और कौन उसके खिलाफ . उन्होंने एक समाचार पत्र को दिए इंटरव्यू में जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन का पुरजोर समर्थन किया..

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...