Breaking News:

सेकुलर अजय चौहान पाकिस्तानी ठेकेदार के साथ लीबिया गया था कमाने.. अब उसे धन और धर्म का अंतर पता चला

अजय एक सेकुलर हिन्दू था , उसने बाकी दुनिया के अधिकतर हिन्दुओ की तरह कई वामपंथी और उनसे मिलते जुलते लोगों के मुह से सुन रखा था कि रोटी का कोई धर्म या मजहब नहीं होता है . वो अपने क्षेत्र में सेकुलर नेताओं के तमाम भाषण आदि बचपन से सुनता था जिसका उसके ऊपर गहरा असर था .. समय के साथ उसको रोजी रोटी कमाने की फ़िक्र हुई तो उसने सीधे विदेश का रुख किया और निकल गया लीबिया की तरफ जहाँ अभी हाल में ही इस्लामिक आतंकी दल ISIS का भारी खतरा मंडरा रहा था .

फिर लीबिया में अजय ने एक पाकिस्तानी के नेत्रित्व में काम करना शुरू कर दिया . उसको किसी भी प्रकार के किसी भी हिन्दू समूह के किसी भी बड़े नाम के भाषण या संदेश हिला नहीं पाए और वो अपने नस नस में भरे भाईचारे को ले कर पाकिस्तानी को ही अपना आका मान कर काम करने लगा .. वो बहुत खुश था और उसको शुरू में ऐसा लगता था कि उसने भारत में जो भी सेकुलर नेताओं के मुह से सेकुलरिज्म के भाषण सुने थे वो सब सच थे .. फिलहाल समय बीतता गया .

अचानक ही अब उसी अजय के घर वाले बेचैन हो उठे हैं . उसने दहाड़े मार मार कर रोते हुए बताया है कि वहां उसके साथ इंसानों जैसा नहीं बल्कि पशुओं जैसा दुर्व्यवहार किया जा रहा है . वो अपनी मदद के लिए अचानक ही हर किसी से गुहार लगाने लगा . ये झटका था अजय के सेकुलर परिवार के लिए क्योकि उसके साथ जो हो रहा था वो किसी सेकुलर नेता ने कभी नहीं बताया.. उसने बाकायदा एक वीडियो जारी कर के गुहार लगाईं कि उसको कैसे भी वहां से निकाला जाय .

अजय महराजगंज जिला उत्तर प्रदेश के श्याम देवरवा इलाके का रहने वाला है .उसके घर वाले अब फ़ौरन ही सक्रिय हो उठे हैं और अपने नजदीकी जिलाधिकारी के चक्कर लगाने लगे हैं .. वो सभी अब नरेन्द्र मोदी और योगी आदित्यनाथ से भी गुहार लगाने लगे हैं कि उनके बेटे या परिजन को सुरक्षित लीबिया से निकाला जाय . अजय के लीबिया से जारी वीडियो में साफ दिख रहा है कि उसको बुरी तरह से मारा गया है और उसके साथ पशुता की गई है . फिलहाल इस मामले में जिला प्रशासन अजय के परिवार की अधिकतम मदद कर रहा है .

Share This Post