पाकिस्तानी मीडिया में हीरो बने वो विपक्षी सांसद जिन्होंने आज संसद में किया अमित शाह का विरोध

ये विषय देश हित का था . ये भारत का वो नासूर था जो आए दिन चुभ रहा था राष्ट्रवादियो को शूल की तरह . जवाहर लाल नेहरु के सौजन्य से लगाया गया ऐसा कानून जो न जाने कितने सैनिको और देशवासियों के बलिदान की वजह बना उसको हटाने की घोषणा एक बाद ये माना जा रहा था कि देश एकता के सूत्र में पिरो जाएगा और कम से कम जनता के रुख को देख कर ऐसा हुआ भी ..लेकिन जो रूप और रुख विपक्ष में बैठे कुछ ने दिखाया वो देशवासियों को पीड़ा तो पाकिस्तानियों को ख़ुशी दे गया .

पुतिन और ट्रंप भी देख रहे हैं ध्यान से दुनिया में शक्ति के रूप में एक नए व्यक्ति के उदय को

ध्यान देने योग्य है कि देश का नासूर कही जाने सकनी वाली धारा 370 हटते ही जहाँ देश ख़ुशी से झूम उठा तो वही इस धारा की आड़ में अपने नापाक मंसूबे साधने वाले पाकिस्तान में मातम जैसा पसर गया है . पाकिस्तान के पास ऐसा कुछ भी नहीं रहा जो अब वो इसके बाद कर सके .. लेकिन उसने अपने इस गम भरे माहौल को खत्म करने के लिए मात्र उन भारतीय नेताओ के बयानों को मरहम बनाया है जिन्होंने आज धारा 370 हटाने का विरोध संसद भवन के अन्दर किया .

आज शांति मिली श्यामा प्रसाद मुखर्जी की आत्मा को.. “जहाँ हुए थे बलिदान मुखर्जी” … अब वो कश्मीर हमारा है

ध्यान देने योग्य है कि कश्मीर से धारा 370 हटाने का एलान करते ही संसद में शोर मचना शुरू हो गया .. कई समर्थन में तो कई विरोध में लेकिन जो विरोध में रहे वो पाकिस्तानी मीडिया की सुखियाँ बन गये . पाकिस्तान का अख़बार DAWN लिखता है कि मोदी सरकार ने कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा खत्म किया तो विपक्ष ने किया भारी विरोध . लगभग इसी प्रकार की समाचार हेडलाइन पाकिस्तानी अख़बार और पोर्टल GEO TV की भी है .. इतना ही नहीं उसने बाकायदा महबूबा मुफ़्ती का फोटो भी ऊपर डाला है . इसी के साथ कई अन्य नेताओं का भी जिक्र पाकिस्तान के तमाम पोर्टलों और समाचार माध्यमो में है .

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share