पाकिस्तान तो दूर किसी ने भी नहीं सोचा था कि कश्मीर पर ये बोल जाएगा आंतकी दल तालिबान ..

अब तक अमेरिका और रूस ने भी चित्त किया था पाकिस्तान को और दुनिया के हर देश ने कश्मीर मामले में पाकिस्तान से मुह फेर लिया तो उसको आशा और उम्मीद केवल आतंकी समूहों से रह गयी थी और वो बड़ी आशा से अल कायदा और तालिबान जैसे आतंकी दलों की तरफ देख रहा था और इस उम्मीद में टकटकी लगाया था कि कोई तो होगा जो उसकी बात को सुनेगा और उसको सही कहेगा भले ही आतंकी संगठन .. पर उसको यहाँ भी वो सुनना पड़ा जो उसने सोचा भी नहीं था .

ध्यान देने योग्य है कि कश्मीर मामले से खुद को दुर्दांत इस्लामिक आतंकी दल तालिबान ने खुद को अलग कर लिया है और पाकिस्तान से कहा है कि वो अफगानिस्तान विवाद को कश्मीर से मिलाने की कोशिश न करे .. तालिबान के प्रवक्ता के अनुसार उनका मानना है कि अफगानिस्तान में चल रही लड़ाई का कश्मीर से कोई भी लेना देना नहीं है और वो पाकिस्तान कश्मीर की बातों को अफगानिस्तान के अंदरूनी मामलो में मिलाने की कोशिश न करे ..

अनादोलु न्यूज एजेंसी के अनुसार, तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिद ने गुरुवार को एक बयान में कहा, “कुछ दलों द्वारा कश्मीर के मुद्दे को अफगानिस्तान के साथ जोड़ने से कुछ हासिल नहीं होगा। क्योंकि यह मुद्दा अफगानिस्तान से संबंधित नहीं है और न ही अफगानिस्तान को अन्य देशों के बीच प्रतिस्पर्धा के रंगमंच में बदलना चाहिए।”पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के अध्यक्ष और विपक्ष के नेता शहबाज शरीफ ने इस सप्ताह की शुरुआत में संसद में कश्मीर के साथ अफगानिस्तान की स्थिति की तुलना की थी।

Share This Post