Breaking News:

जांबाज़ अभिनंदन के मामले में जिस पाकिस्तान को “इमरान गैंग” बता रही थी करुणा का सागर , उसी अभिनंदन के साथ हुआ था ये सब वहां


बालाकोट एयरस्ट्राइक के बाद आतंकी मुल्क पाकिस्तान के F-16 को मार गिराने वाले इंडियन एयरफाॅर्स के जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन जब पाकिस्तान से रिहा हुए तो देश की कथित “इमरान गैंग” ने पाकिस्तान तथा वहां के पीएम इमरान खान को करुणा का सागर, दयालुता की प्रतिमूर्ति, मानवीयता का प्रतिबिम्ब और न जाने क्या क्या बताया था. इन लोगों ने इसके पीछे भारत सरकार की कूटनीति तथा ताकत के बजाय पाकिस्तान को अभिनंदन की रिहाई का श्रेय दिया था.

घरों को छोड़ कर जंगलों में पहुँचे श्रीलंकाई मुसलमान.. किसी और देश मे घुसने की फिराक में

ज्ञात हो कि अभिनंदन ने बीती 27 फरवरी को पाकिस्तानी लड़ाकू विमान को मार गिराया था, लेकिन उनका खुद का प्लेन भी इस दौरान क्रैश हो गया था तथा उन्हें पाकिस्तान ने गिरफ्त में ले लिया था. इसके बाद अभिनंदन को पाकिस्तान ने लौटा दिया था और अंतरराष्ट्रीय मंचों पर अपनी उदारता के लिए वाहवाही भी बंटोर रहा था. लेकिन अब पाकिस्तान की पोल खुल गई है. खबर के मुताबिक़, पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना की बालाकोट में जवाबी एयर स्ट्राइक के अगले दिन पाकिस्तान के F16 फायटर जेट को अपने MIG-21 से मार गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान के साथ पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी ISI के अफसरों ने मारपीट की थी.

जांबाज़ अभिनंदन के मामले में जिस पाकिस्तान को “इमरान गैंग” बता रही थी करुणा का सागर , उसी अभिनंदन के साथ हुआ था ये सब वहां

डिफेंस मिनिस्ट्री के सूत्रों के हवाले से एक अंग्रेजी अखबार में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तानी सेना ने अभिनंदन ने साथ नार्मल व्यवहार किया था, लेकिन पाकिस्तानी ख़ुफ़िया एजेंसी ISI ने उनके साथ न सिर्फ मारपीट बल्कि उनसे पूछताछ के दौरान अभद्र बातें भी की थीं. अभिनंदन ने वापस लौटकर सैन्य अधिकारियों के सामने जो बयान दर्ज कराया है, उसके मुताबिक करीब 40 घंटे तक ISI ने उनसे पूछताछ की थी और भारत की खुफिया एजेंसी रॉ (रिसर्च ऐंड ऐनालिसिस विंग) से जुड़े सवालों के दौरान बदतमीजी भी की थी.

घर मे म्यूजिक बजा तो हराम बोल कर दौड़ पड़े उन्मादी.. महिलाओं तक को नही छोड़ा.. घटना सीरिया नहीं, बिहार की

मिली जानकारी के मुताबिक गिरफ्तार होने के बाद करीब 4 घंटे तक वो पाकिस्तानी सेना की कस्टडी में थे, जहां उनके साथ नार्मल व्यवहार किया गया. लेकिन इसके बाद पाक ख़ुफ़िया एजेंसी ISI के लोग उन्हें पूछताछ के लिए इस्लामाबाद से रावलपिंडी ले गए. यहां ISI ने आंखों में पट्टी बांधी बांधकर उन्हें करीब 40 घंटे तक स्ट्रॉन्ग रूम में रखा था. यहां न सिर्फ अभिनंदन के सिर पर बंदूक की बट से वार किया गया, बल्कि उनसे बदतमीजी भी की गई थी.

पत्थर मार कर हत्या इस्लामिक देशों के बाद अब भारत में भी शुरू.. दानापुर में जो हुआ वो तालिबान में होता था

इसी हमले की वजह से उनकी दायीं आंख के ऊपर चोट आई थी. अभिनंदन ने यह भी बताया कि उनसे पूछताछ के दौरान यह भी कहा गया कि वह भले ही अपने बारे में कुछ जानकारी नहीं दे रहे हों लेकिन इंडियन मीडिया के जरिए उन्हें अभिनंदन परिवार से लेकर उनके पिता के रिटायर्ड एयर फोर्स ऑफिसर होने और उनके घर के पते तक सारी जानकारी मिल गई थी. अभिनंदन ने बताया है कि पहला वीडियो जिसमें वो चाय पी रहे थे सही है लेकिन दूसरा वीडियो जो उन्हें रिलीज करने के बाद जारी किया गया था फर्जी है. अभिनंदन को छोड़ने के बाद पाकिस्तान ने जो 1 मिनट 23 सेकंड का विडियो रिलीज किया उस बारे में अभिनंदन ने कहा कि यह उनकी आवाज नहीं है और जांच में सामने आया है कि इस छोटे से वीडियो में 15 से ज्यादा कट हैं.

कांग्रेस का विधायक हुआ बागी.. खोला मोर्चा राहुल नही प्रियंका के खिलाफ..लगाया बेहद सनसनीखेज आरोप

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...