Breaking News:

मस्जिद पर हमले के बाद मुसलमानों का दर्द बांटने गया था नार्वे का सेकुलर क्राउन प्रिंस.. हुआ कुछ ऐसा कि शर्मिंदा हो कर लौटा

वो घटना उस देश के लिए एकदम नई थी और किसी हैरान कर देने वाली वारदात से कम तो बिलकुल नहीं.. यूरोप में इस्लाम और ईसाइयत के बीच जो जोर आजमाइश चल रही है उसी क्रम में नार्वे की एक मस्जिद में घुस गया था एक हमलावर और फायरिंग के पहले ही पकड़ा गया था.. उसके बाद नार्वे के मुस्लिमों ने जिस प्रकार से वहां पर अपने आप को डरा और सहमा होने के साथ चरमपंथी ईसाइयों के निशाने पर बताया , उसके बाद कई लोग उन बातो को सही मान कर अपने सामर्थ्य से उनका सहयोग करने पहुच गये..

इन्ही में से एक थे नार्वे के क्राउन प्रिंस.. इनका नाम है प्रिंस हाकोन..  नॉर्वे की हिज हाइनेस क्राउन प्रिंस हाकोन 10 अगस्त को मस्जिद पर हुई गोलीबारी के बाद मुसलमानों के प्रति अपनी हमदर्दी दिखाने और संवेदना जताने के लिये अल-नूर इस्लामिक सेंटर का दौरा किया।जहां उन्होंने बहुत से लोगों से मुलाक़ात की और उनसे बातचीत में उनको पूरा साथ और सहयोग करने का आश्वासन दिया .. लेकिन तभी कुछ ऐसा हुआ था जो उनकी शर्मिंदगी का एक बड़ा कारण बन गया..

इस मुलाकात और सहानभूति के अवसर पर जब प्रिंस हाकोन वहां मौजूद तीन मुस्लिम महिलाओं से मिले और उनकी तरफ मिलाने के लिए अपना हाथ बढ़ाया तो उन तीनो मुस्लिम महिलाओं ने प्रिंस क्राउन से हाथ मिलाने से साफ़ साफ मना कर दिया और बताया कि उन्हें ये पाकीज़ा तरीका इस्लाम सिखाता है.. जबकि प्रिंस क्राउन नार्वे के सबसे चर्चित और सबसे बड़ी हस्ती माने जाते हैं जिनसे मिलने के लिए आम लोग लाईन तक लगाया करते है . उन्होंने काफी देर तक अपना हाथ बढाये रखा लेकिन उन मुस्लिम महिलाओं ने किसी भी गैर मर्द से हाथ मिलाने से साफ़ मना कर लिया और बाद में यही नार्वे के सेक्युलर प्रिंस के लिए शर्मिंदगी की वजह बनी .

देखिए वो शर्मिंदगी भरा पल नार्वे के क्राउन प्रिंस के लिए –

Share This Post