अन्याय के ठिकाने पर न्याय की गुहार.. पाकिस्तानी बच्चियों को झेलना पड़ रहा वो सब कुछ जो नही झेल सकते बड़े – २ कलेजे वाले

क्या नहीं झेलना पडा उन मासूमो को जिनकी उम्र अभी पढने लिखने की थी . नाबालिग बच्चियों से पहले उनके माता पिता का साया छीन लिया गया फिर उनको जबरन अपनी उम्र से तीन गुने बड़े मुसलमानों के साथ जबरन निकाह करवाया गया . इतना ही नहीं , उनका वीडियो भी जारी किया गया कलमा पढ़ाते हुए .. और जिस उम्र में उन मासूमो को स्कूल आदि के चक्कर लगाने थे उस उम्र में वो बच्चिया अदालतों के झंझट में पड़ी है … और दुनिया इस मामले में खामोश है .

पीएम मोदी ने क्रांति भूमि मेरठ से किया चुनावी अभियान का शंखनाद.. विपक्ष पर किये जमकर वार

ये विषय है पाकिस्तान में दो नाबालिग हिन्दू लड़कियों का जबरन निकाह और उनको जबरन मुसलमान बनाने का . यहाँ जब भारत का दबाव बना तो ये कृत्य करने के आरोप में एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है। अब इन दोनों किशोरियों ने पंजाब प्रांत की अदालत का रूखकर खुद को संरक्षण देने का अनुरोध किया। इस पूरे मामले में मीडिया का एक बड़ा वर्ग खामोश रहा जबकि सुदर्शन न्यूज ने इसको प्रमुखता से दिखाया और कार्यवाही हो जाने तक इस मामले में अडिग रहा .

बौद्धों के कत्लेआम का सेंटर बनाने की तैयारी थी भारत को.. बाकायदा तैयार हो चुकी थी पटकथा

इन लड़कियों को अगवा करके जबरन इस्लाम में धर्मांतरित कराया गया है क्योकि वो हिन्दू हैं और ऐसा कृत्य करने के लिए चुना गया होली का वो समय जो हिन्दुओ का एक पवित्र दिन होता है . इसी मौके पर सिंध प्रांत के घोटकी जिले से रवीना (13) और रीना (15) को रसूखदार लोगों ने  अगवा कर लिया था। उनके अपहरण के कुछ वक्त बाद ही, एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें एक काज़ी कथित रूप से दोनों का निकाह (शादी) करा रहा था।

इस्लामिक मुल्क ईरान में कुदरत का कहर .. बाढ़ का पानी बहा ले गया 30 को

Share This Post