न्यूजीलैंड की निंदा करते एक देश में एक ही रात में क़त्ल कर दिए गये 22 पुलिसकर्मी.. इन हत्यारों की चर्चा कहीं क्यों नहीं?

उस देश की सत्ता तथा वहां के नागरिकों ने न्यूजीलैंड की 2 मस्जिदों में में हुई गोलीबारी की कड़ी निंदा करते हुए वहां के मृतकों के परिजनों के प्रति अपनी संवेदना जताई थी. फिर उसके बाद उसी देश में रात में 22 पुलिसकर्मियों का क्रूरतम तरीके से क़त्ल कर दिया गया. हम बात कर रहे हैं इस्लामिक मुल्क अफगानिस्तान की, जहाँ उत्तरी अफगानिस्तान में सेना के अलग-अलग चेक पोस्ट्स पर हुए तालिबान के हमले में अफगान सेना के 22 जवान मारे गए हैं.

अफ़सोस इस बात है तथा ये सवाल भी है कि न्यूजीलैंड हमले की निंदा करने वाले अफगानिस्तान के सैनिकों के हत्यारों की चर्चा कहीं पर भी क्यों नहीं हो रही है? न्यूजीलैंड हमले का हमलावर टैंरेंट अभी तक सुर्खियाँ बना हुआ है तथा उसके खिलाफ तमाम तरह की बयानबाजी की जा रही है, जो जायज भी है लेकिन अगानिस्तान के 22 पुलिसकर्मियों की ह्त्या करने वालों के बारे में कोई बात क्यों नहीं कर रहा है?

उत्तरी फरयाब प्रांत के प्रांतीय परिषद के अध्यक्ष मोहम्मद ताहिर रहमानी ने कहा कि आतंकियों ने शनिवार देर रात कैसर जिले के चेक-पॉइंट्स पर हमला कर पुलिस और जवानों को निशाना बनाया. दोनों पक्षों के बीच रविवार सुबह तक गोलीबारी जारी रही. रहमानी ने बताया कि हमले में अफगान फोर्सेस के 20 जवान घायल हुए हैं. उन्होंने कहा, “जिले के ज्यादातर हिस्सों में तालिबान ने कब्जा कर रखा है.” प्रांतीय पुलिस के प्रवक्ता करीम युरेश ने इस बात की पुष्टि की है कि तालिबान ने फरयाब में कई जगहों पर सुरक्षाबलों को निशाना बनाया है, हालांकि उन्होंने इस संबंध में विस्तृत जानकारी नहीं दी है.

Share This Post