चीन के जिन मुसलमानों से चीनी दरिंदगी पर खामोश रहा इस्लामिक जगत, उसी मुद्दे को उठाया ऐसे देश ने जिसको कई मुस्लिम देश मानते हैं अपना दुश्मन

ये बड़ी अजीब सी स्थित थी .. जिस चीन को तमाम मुस्लिम देश अपना साथी केवल इसलिए मानते हैं क्योकि वो भारत और पाकिस्तान के मुद्दे पर अक्सर न केवल भारत के खिलाफ जाता है और पाकिस्तान का समर्थन करता है बल्कि पाकिस्तान के दुर्दांत आतंकियों जैसे मसूद अजहर और हाफिज सईद की ढाल भी बन कर खड़ा हो जाता है , उसी चीन के खुद के देश में मुसलमानों पर जितना भयानक अत्याचार होता है जो मानवाधिकार के सभी मापदंड़ो को तार तार कर देता है ..

दिल्ली में आई तो उसको वैसा बना दूँगी जैसा मैंने UP बनाया था – मायावती

लेकिन उईगर मुसलमानों पर अंतहीन अत्याचार करने वाले चीन के खिलाफ आज तक किसी भी मुस्लिम देश ने एक भी शब्द बोलने की हिम्मत नहीं दिखाई है .यहाँ तक कि जो पाकिस्तान चीन की लगभग गुलामी कर रहा है उसी पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री इमरान खान ने तो यहाँ तक कह डाला था कि उनको पता ही नहीं है कि उनके पड़ोस में कुछ ऐसा हो रहा है … लेकिन अब एक ऐसे देश ने उईगर मुसलमानों का मुद्दा उठाया है जिसको कई मुस्लिम देश मानते हैं अपना दुश्मन ..

गाय खाने की जिद पाले गौभक्षको को शिक्षा दे गया मासूम. घायल चूजे को ले कर अस्पताल पंहुचा और 10 रूपये दे रोते हुए बोला- “इसे ठीक कर दो”

ये मामला उठाने वाला देश है अमेरिका जो अपनी मुस्लिम विरोधी छवि वाले राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा शासित है .. उसी अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ तथा उच्च अधिकारियों को संबोधित करने वाले इस पत्र में लिखा गया है,”शिंजियांग में जिस व्यवस्थित और जबर्दस्त तरीके से मानवाधिकारों का हनन किया जा रहा है उस पर प्रशासन द्वारा अब तक किसी प्रकार का प्रतिबंध नहीं लगाए जाने से हम क्षुब्ध हैं.”

दुनिया को हैरान कर देने वाले इस मामले में अमेरिकी सांसदों ने चीन में उइगर अल्पसंख्यकों के कथित उत्पीड़न के आरोप में शिंजियांग क्षेत्र के उच्चाधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने की बुधवार को मांग की. विभिन्न दलों के 24 सांसदों और प्रतिनिधि सभा के 19 सदस्यों ने एक पत्र पर हस्ताक्षर करके अमेरिका से अधिकारों का उल्लंघन करने वाली चीन की कंपनियों के बारे में भी जानकारी देने की मांग की है. फिलहाल विदेश मामलों के जानकारों के अनुसार इस के पीछे भी अमेरिका की कोई बड़ी चाल मानी जा रही है ..

वोटों के लिए पहुचे इस स्तर तक. मोदी के खिलाफ ताल ठोंक रही एक पार्टी के मुस्लिम विधायक ने मसूद अजहर को कहा “साहब”

Share This Post