पहला देश जो खुल कर खड़ा हुआ भारत के साथ और बोला -“हम हर तरह आपके साथ हैं”


वो देश जिसको नकली धर्मनिरपेक्षता व तथाकथित सेकुलर सिद्धांतो के चलते सदा से हाशिये पर रखा गया, वो देश जिसने विपत्ति काल मे सदा से सहयोग का हाथ बढ़ाया , वो देश जो खुद जूझ रहा उन्ही जैसे दुश्मनों व उन्ही जैसे हालातों से जिसको झेलना पड़ रहा भारत की सेना , पुलिस व राष्ट्रवादियों को.. उसी देश ने भारत के बहुसंख्यक हिन्दू समाज की भावनाओं का आदर करते हुए वो शब्द बोला है जिसको बोलने से भारत का ही खा कर कट्टरपंथ फुफकारते कुछ कथित भारतीय अपनी तौहीनी समझते हैं . अब भारत का वही सच्चा मित्र इजरायल खुल कर खड़ा हुआ है भारत के साथ और पहला देश बना है जो आतंकियों के खिलाफ भारत का पूरा साथ देने के लिए संकल्प लिया है .. भारत को इजरायल के इस साथ व सहयोग की पेशकश से बहुत बल मिला है..

विदित हो कि इजरायल की भारत मे डिप्लोमैट माया कड़ोस ने इस से पहले भी अपने आधिकारिक ट्वीट में हिंदुओं की आदि काल से पूज्य रही व भारत की संस्कृति को आधार गंगा को “माँ” शब्द से संबोधित किया था.. एक मामले पर ट्वीट करते हुए माया कड़ोस ने जी #MotherGanga शब्द हैशटैग लगाते हुए शर्मिंदा होने पर मजबूर कर दिया था उन तथाकथित भारतीयता का चोला पहनने वालों को जो भारत मे ही अपनी कट्टरता दिखाते हुए भारत से ज्यादा फिलिस्तीन की चिंता में डूबे रहते हैं और उनमें से कुछ लड़ने के लिए इराक , सीरिया तक पहुँच जाते है और राष्ट्रगीत, भारत माता की जय के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कहते हैं कि वो पक्के राष्ट्रवादी हैं, व उनकी देशभक्ति पर किसी भी प्रकार से शक करना तो दूर, सवाल भी न उठाया जाए ..

इतना ही नहीं, स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी जी के स्वर्गवास पर भी इजरायल ने भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उनको अंतिम विदाई दी थी.. यद्द्पि भारत ने इतने के बाद भी तमाम अन्तराष्ट्रीय मंचो पर फिलिस्तीन का साथ दिया था और इजराइल का विरोध किया था.. वो एहसास फरामोश फिलिस्तीन जो आज खामोश बैठा सब कुछ देख रहा है ..


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...