Breaking News:

धन्यवाद दीजिये उस देश को जिसका दिया हथियार बना इस्लामिक आतंकियों के वध का ब्रह्मास्त्र

एक ऐसा देश जिसको तथाकथित सेकुलरिज्म के नाम पर खुद से दूर रखा गया . राष्ट्र हितों पर वोटो की चिंता भारी थी . ये भी नहीं समझ पाया आज तक कोई कि अपनी जमीन पर अपने वजूद के लिए लड़ते उस देश से और उस देशवालों से किसी को क्या दिक्कत थी ? पर उसने हमेशा भारत का खुल कर साथ दिया . पहली ही बार नहीं कई बार वो भारत के साथ खुल कर खड़ा हुआ . कारगिल की लड़ाई के बाद इस बार फिर से आतंकियों को मौत देने में साथ देने वाले देश का नाम इजरायल है .

रात करीब साढ़े तीन बजे एक साथ 12 मिराज-2000 लड़ाकू विमानों ने आतंकियों के बड़े ठिकानों पर हमला किया और उसे पूरी तरह से तबाह कर दिया. भारतीय वायुसेना से जुड़े सूत्रों ने बताया कि वायुसेना के विमानों ने बीती रात नियंत्रण रेखा के पार जैश के आतंकी कैंप पर करीब 1000 किलोग्राम के बम बरसाए. अभी तक की सूचना के मुताबिक दो से तीन सौ आतंकियों के मारे जाने की सूचना है. लेकिन इस पूरे अभियान में भारत के विमानों को पाकिस्तान के रडार से दूर रखने का काम किया था इजरायल की दी गयी तकनीकी ने .

भारत ने इस मिशन को पूरा करने के लिए इजरायली अवॉक्‍स (नेत्र) का सहारा लिया था. बताया जाता है कि हमले से पहले इजरायली अवॉक्स (नेत्र) ने पाकिस्‍तान के रडार को जाम कर दिया. इसके बाद हारोन ड्रोन ने पीओके में छुपे आतंकी ठिकानों की जानकारी दी और भारतीय सेना के मिराज-2000 ने आतंकी ठिकानों पर हमला कर दिया. असल में इसी हथियार ने पाकिस्तान अधिकृत क्षेत्र में फैले वायुसेना के सारे राडार को जाम कर दिया। इसके बाद इजरायल से ही मिले हारोन ड्रोन ने PoK में छिपे आतंकियों के ठिकाने की अचूक जानकारी दी। इस हथियार के लिए भारत का एक बड़ा वर्ग इजरायल की दिल खोल कर प्रशंसा कर रहा है और इजरायल को भारत का सच्चा दोस्त भी बता रहा है . ज्ञात हो कि   इजरायल ने भारत   को न सिर्फ पाकिस्तान बल्कि चीन के खिलाफ भी किसी भी युद्ध में पूरा साथ और सहयोग देने  की पेशकश कर रखी है .

Share This Post