Breaking News:

हिंदू मान्यताओं में अंध विश्वास खोजने वालों ने हैरी पोर्टर की किताब पर रोक क्यों लगाईं इसे जान कर वैज्ञानिक भी हैरान

ये वो संस्कृति और मान्यता वाले लोग हैं जो आये दिन हिन्दू मान्यताओ और तीज त्योहारों में खोट खोजते हुए उसको कभी अंध विश्वास और कभी कुछ और नाम दिया करते थे लेकिन खुद उनकी सोच और उनके सिद्धांत क्या कहते हैं इसको जान कर अब वैज्ञानिक भी हैरान हो गये हैं क्योकि फिल्मो का नामी काल्पनिक पात्र हैरी पोर्टर जिस आधार पर किताबो से बैन कर दिया गया है वो किसी के गले नही उतर रहा है. यहाँ तक कि बड़े बड़े वैज्ञानिको के भी समझ में नहीं आया है प्रतिबन्ध का ऐसा कारण .

अब इस्लामिक मुल्क पाकिस्तान में एक हिन्दू लड़की का अपहरण.. जबरन निकाह कर के बना दिया मुसलमान

ध्यान देने योग्य है कि ईसाई पादरियों के कड़े आदेश के बाद आखिरकार विकसित कहे जाने वाले देश अमेरिका के नैशविले स्थित स्कूल के पादरी ने हैरी पॉर्टर किताब पर रोक लगा दी है। जब इस प्रतिबन्ध की वजह उनसे जानने की कोशिश की गई तो उन्होंने बताया कि उन्हें डर है कि इस किताब का दुरूपयोग बुरी आत्माओं को बुलाने में किया जा सकता है। स्थानीय मीडिया को रेवरएंड का ई-मेल मिला है जिसमें उन्होंने लिखा है कि किताब में शाप और मंत्र का उल्लेख किया गया है जिसे पढ़ने पर बुरी आत्माओं के आने का खतरा है।

सीमा पर रौद्र रूप में सेना.. 3 पाकिस्तानी फौजी बदल गये लाश में, 4 पाकिस्तानी चौकियां भी ध्वस्त

वर्ष 1997 में हैरी पॉर्टर श्रृंखला की किताब को बाजार में लाया गया था जो अच्छी और बुरी आत्माओं पर केंद्रीत है मीडिया रिपोर्ट्स से मिल रही खबरों के अनुसार वहां के नामी पादरी रेवरएंड डैन रीहील ने रोम और अमेरिका के जादू करने वाले से संपर्क किया था जिन्होंने टेनेसी स्थित सेंट एडवर्ड कैथोलिक स्कूल के पुस्तकालय से ये किताबें हटाने की सलाह दी। कैथोलिक धर्मप्रांत नैशविले की स्कूल अधीक्षक रेबेका हैम्मल ने द टेनेसियन अखबार से कहा कि रीहील को इस तरह का फैसला लेने का पूरा अधिकार है। हालांकि, स्कूल में मौजूद इन किताबों को हटाया नहीं जाएगा पर यह बच्चों को पढ़ने को नहीं दी जाएगी।

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

Share This Post