कर्फ्यू के बाद भी सड़को पर उमड़ी भीड़ और मुस्लिम कारीगर को उसी के औजारों ने मार डाला.. थोड़ी देर के लिए हट गई थी पुलिस”


श्रीलंका में 21 अप्रैल को हुए सिलसिलेवार इस्लामिक आतंकी हमलों के बाद हालात सामान्य होने के बजाय बेकाबू होते जा रहे हैं. आक्रोशित श्रीलंकाई जनता चरमपंथियों के खिलाफ भड़की हुई तथा श्रीलंका के किसी न किसी शहर से लगातार मजहबी कट्टरपंथियों के खिलाफ हिंसक झड़पों की ख़बरें सामने आ रही हैं. स्थिति ये है कि कई जगह कर्फ्यू लगा हुआ है तथा सोशल मीडिया को भी बैन कर दिया गया है.

केजरीवाल का हिंसक हथियार बना उनका विधायक अमानतुल्लाह.. एक और व्यक्ति को बेरहमी से मारा, केवल इस गलती पर ..

कर्फ्यू के बीच सोमवार देर रात आक्रोशित भीड़ ने एक मुस्लिम कारीगर की उसी के औजारों से ह्त्या कर दी. पता चला है कि थोड़ी देर के लिए पुलिस वहां से हट गई थी और तभी भीड़ ने मुस्लिम व्यक्ति की जान ले ली. बता दें कि उत्‍तरी श्रीलंका में तीन बड़े जिलों में मुसलमान विरोधी दंगे भड़क गए हैं. यहां के पुट्टालाम जिले में 45 वर्ष के एक व्‍यक्ति की हत्‍या की गई है. एक अधिकारी ने जानकारी दी, ‘भीड़ ने उसकी दुकान पर रखे धारदार हथियारों से उस पर हमला किया.’ अधिकारियों की ओर से इस बात की पुष्टि की गई है कि दंगों में अभी तक यह पहली मौत है. मृतक व्‍यक्ति पेशे से एक बढ़ई था.

बादल और रडार के मुद्दे पर आया उस जांबाज़ पायलट का बयान जिसने 1971 युद्ध मे पाकिस्तान पर बरसाई थी मौत

मीडिया सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक़, श्रीलंका के उत्‍तर और पश्चिमी हिस्‍से में रहने वारले लोगों को घरों में रहने को कहा गया है. कहा गया है कि स्थिति सामान्य होने तक आप लोग अपने घरों से न निकलें. इससे पहले सोशल मीडिया पर एक मुस्लिम दुकानदार के भड़काऊ कमेन्ट के बाद वहां का ईसाई समुदाय आक्रोशित हो गया तथा दर्जन भर मुसलमानों की दुकानों, गाड़‍ियों और मस्जिदों को आग के हवाले कर दिया गया था.

सैलरी के बदले शरीर मांगता था वसीम.. युवती ने इंकार किया तो उसका किया ये हाल

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...