फ्रांस ने पेश किया वहां पिछले साल हुए बलात्कारों का सनसनीखेज आंकड़ा. ये वही समय था जब वहां घुसे थे सीरियाई और ईराकी घुसपैठिये

ये देश कभी दुनिया के सबसे खूबसूरत देशो में गिना जाता था, इस देश की आय का मुख्य स्रोत यहाँ का पर्यटन हुआ करता था. यहाँ की खूबसूरती ही नहीं बल्कि यहाँ पर्यटकों की सुरक्षा भी यहाँ पर जाने वाले सैलानियों के आकर्षण का केंद्र हुआ करती थी. लेकिन पिछले कुछ समय से फ्रांस में जो कुछ भी हुआ है वो भले ही बाहरी घुसपैठियों की हरकतों के चलते हुआ पर उस से फ्रांस की विश्व में दिशा और दशा दोनों ही प्रभावित हुई . साथ ही उसकी छवि पर लगा बहुत बड़ा बट्टा .

ज्ञात हो कि लगातार आतंकी हमलो से जूझ रहे फ्रांस में अपने यहाँ पर वर्ष २०१८ में हुए बलात्कारों व् महिलाओं के खिलाफ यौन अपराधो का जब ब्यौरा पेश किया तब वहां के ही नहीं बल्कि विश्व के तमाम लोग हैरत में पड़ गये . ये वही समय है जब फ्रांस में ईराक और सीरिया के युद्ध के बहाने बेतहाशा घुसपैठिये बढ़े थे और उसके बाद वहां पर आतंकी हमलो की बाढ़ जैसी आ गयी थी . लेकिन ये बाढ़ सिर्फ आतंकी हमलो की ही नहीं थी . इन हमलो के पीछे कुछ और हो रहा था जो झेलना पड़ रहा था वहां की महिलाओं को .

फ्रांस में 2018 में बलात्कार तथा यौन अपराधों से जुड़ी शिकायतों में तेजी से वृद्धि हुई है। गृह मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों में इस बात का खुलासा हुआ है। आंकडो़ं के मुताबिक, बलात्कार की शिकायतें 17 फीसदी वहीं यौन अपराध से जुड़ी शिकायतें 20 फीसदी तक बढ़ गई हैं.. मंत्रालय की सांख्यिकी सेवा की एक रिपोर्ट के अनुसार पीड़ितों की बड़ी संख्या इसलिए भी सामने आई है क्योंकि ऐसे मामलों की शिकायतें ज्यादा हुई हैं और इस प्रकार की हिंसा को बर्दाश्त नहीं करने की प्रवृत्ति बढ़ी है। फिलहाल फ्रांस अब अपने देश में पनप रहे ऐसे तमाम नकारत्मक रिपोर्टो पर अंकुश लगाने के लिए जूझ रहा है .

Share This Post