आस्ट्रेलिया के इस्लामिक प्रचारक का एलान – “क्रिसमस मनाया तो जलना होगा नर्क की आग में”

क्रिसमस का भारत के धर्मनिरपेक्ष वर्ग के लोग भले ही तहे दिल से स्वागत कर रहे हैं लेकिन कहीं तो ऐसा है जिसका इस सेकुलरिज्म से कोई लेना देना नहीं लग रहा है . क्रिसमस के जोश में डूबे तमाम लोगों को उस समय बड़ा झटका लगा जब आस्ट्रेलिया से आये एक फरमान और एक ख़ास विचारधारा ने उनको कुछ समय के लिए सोचने पर मजबूर कर दिया . ये फरमान है आस्ट्रेलिया के सिडनी शहर से जो सम्बोधित तो उसी शहर के लोगो को कर रहा था लेकिन हवाला जिस स्थान से दे रहा था वो लगभग पूरी दुनिया में एक समान रूप में स्वीकार किया जाता है .

ध्यान देने योग्य ये है कि आसटेलिया के एक बड़े और नामी मुस्लिम प्रचारक ने क्रिसमस को हराम घोषित करते हुए इसमें शामिल होने वाले सभी मुस्लिमो को हिदायत जारी किया है . इस्लामिक कानूनों का हवाला देते हुए इस्लामिक प्रचारक नदीम आब्दी ने साफ़ साफ़ कहा कि जो भी मुसलमान क्रिसमस त्यौहार में शामिल होगा उसको मरने के बाद कड़ी सजा मिलनी तय है और उसको लम्बे समय तक नर्क की आग में जलाया जाएगा .

ये फरमान जारी करने वाले नदीम आब्दी सऊदी अरब से संचालित होने वाले अह्लुस सुन्नाह वल जमाह एसोसिएशन का सदस्य है जिसका कहना है कि जीजस में आस्था रखना शराब पीने और शादी से पहले सेक्स करने से भी कहीं बुरा है . क्रिसमस ट्री को शिर्क बताते हुए उन्होंने मुस्लिमों से अपील की है कि वो ऐसे आयोजनों से दूर ही रहें . फिलहाल इस मामले में अभी तक तमाम बुद्धिजीवी वर्ग और स्वघोषित सेकुलर समाज के ठेकेदार खामोश हैं और आब्दी अपनी बात पर कायम .

Share This Post