हमलावर के सर्मथन में खड़े हो रहे ईसाईयों के बड़े नाम.. आस्ट्रेलिया से उठी आवाज- “इन हालातों के जिम्मेदार खुद मुसलमान”

इस पूरे मामले को 2 धड़े में बंटना कहा जाएगा . मुस्लिम समाज के कुछ लोगों ने इसको ईसाइयों का आतंकी हमला बताने का प्रयास किया है और ट्विटर पर बाकायदा इसका ट्रेंड भी चलवाने का प्रयास किया तो अब ईसाईयों ने भी इस मामले में आतंकवाद का कोई धर्म नही होता कहने वालों के खिलाफ मोर्चा सम्भाल लिया है . न्यूजीलैंड की मस्जिद से उठा मामला अब बन रहा है दुनिया भर के लिए ऐसा मुद्दा जो बना रहा है सोच और विचारधारा के २ अलग अलग ध्रुव .

विदित हो कि जहाँ एक तरफ तमाम इस्लामिक मुल्क न्यूजीलैंड की मस्जिद पर हुए इस हमले को आतंकी हमला बताते हुए इसकी पुरजोर खिलाफत कर रहे हैं और तमाम सेकुलर मुल्कों में बाकायदा कैंडल मार्च आदि निकाल कर सहानुभूति आदि का दौर चल रहा है तो वहीँ अब एक देश का एक कद्दावर नेता खुल कर उस हमलावर के समर्थन में आता दिख रहा है और उसने इस पूरी घटना के लिए सीधे सीधे मुसलमानो को ही दोष दे डाला है .

ये बयान देने वाले हैं आस्ट्रेलिया के नाम कानून विद और निर्दलीय सीनेटर फ्रेजर एनिंग. फ्रेज़र एनिंग इस समय आस्ट्रेलिया के क्वीन्सलैंड से सीनेटर हैं . उन्होंने कहा कि यद्दपि हिंसा के किसी भी रूप का विरोध किया जाना चाहिए लेकिन उसके साथ ही उन्होंने मुस्लिम समाज के कट्टरपन्थियो का भी नाम लिया . लेकिन उसके साथ उन्होंने कहा कि ये हालात सिर्फ इसके लिए बन रहे हैं क्योकि मुस्लिमों का किसी देश में तेजी से संख्या बढाना और वहां पर भारी संख्या में आना स्थानीय लोगों में असुरक्षा की भावना पैदा करता है . उन्होंने कहा कि न्यूजीलैंड में तेजी से बढ़ रही मुस्लिमों की संख्या के चलते ही रक्तपात की ये घटना हुई है .

Share This Post