श्रीलंका में अब अफगानियों पर शुरू हुए हमले.. मुसलमानों के खिलाफ पूरे देश में आक्रोश

ईस्टर पर श्रीलंका में चर्चों तथा होटलों में हुए सीरियल बम धमाकों के बाद न सिर्फ श्रीलंकाई सत्ता तथा वहां के सुरक्षा बल बल्कि वहां की जनता भी मजहबी कट्टरपंथियों के खिलाफ मुखर हो रही है. सीरियल बम धमाकों के बाद आक्रोशित श्रीलंका की जनता ने मजहबी कट्टरपंथियों के खिलाफ खुद ही मोर्चा खोल दिया है तथा उनके खिलाफ जंग का एलान कर दिया है.

बंगाली भाषा में ISIS ने जारी किया पोस्टर.. भारत वालों से बोला- ‘जल्द आ रहे हैं”

खबर के मुताबिक़, श्रीलंका में पाकिस्तानियों के बाद अफगानियों पर हमले होना शुरू हो गये हैं. बता दें कि श्रीलंका आतंकी हमले को लेकर कई पाकिस्तानियों को गिरफ्तार किया गया है, जिन पर इन आतंकी हमलों में संलिप्प्ता का आरोप है. इसके बाद न सिर्फ पाकिस्तान बल्कि अफगानी मुस्लिमों के खिलाफ श्रीलंका की जनता मुखर हो उठी है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके बाद श्रीलंका में पाकिस्तान और अफगानिस्तान से आए प्रवासी खौफ के साये में जी रहे हैं. सैकड़ों की तादात में इन प्रवासियों को अपना घर छोड़ना पड़ा है. ये लोग अपनी सुरक्षा को लेकर काफी डरे हुए हैं. सिंहली तथा ईसाई मकान मालिकों ने इनसे घर खाली करने को बोल दिया है.

आखिरकार अभिनंदन की जांबाजी पर फुफकार उठा PFI का मददगार जिन्ना भक्त हामिद अंसारी.. चुनावों में घोल गया कट्टरपंथी जहर

श्रीलंका के पूर्वी तट पर राजधानी कोलंबो के उत्तर में स्थित नेगोंबो शहर में सैकड़ों पाकिस्तानी और अफगानिस्तानी शरणार्थियों ने अपना घर छोड़ दिया है. इन लोगों ने मीडिया को बताया है कि इन्हें स्थानीय लोगों से जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं तथा उन पर हमले हो रहे हैं. मीडिया के हवाले से एक प्रवासी ने बताया कि ‘जब हम अपने घरों से बाहर निकले तो कई लोग बाहर हमारा इंतजार कर रहे थे. इनके हाथों में लाठियां और चाकू थे.’ एक अन्य शख्स ने कहा कि ‘उसके बेटे को इसलिए पीटा गया क्योंकि वो पाकिस्तानी है.’

साध्वी प्रज्ञा को काला झंडा दिखाने वाला पिटा तो सवाल उठाया था कांग्रेस ने.. अब प्रियंका गांधी के रोड शो में जो हुआ वो क्या है ?

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post