अब आतंक का अंत नजदीक, सेना ने तैयार की आतंकियों की हिट लिस्ट


श्रीनगर : मंगलवार को लेफ्टिनेंट उमर फैयाज पैरी को शोपियां से जिन आतं‍कवादियों ने किडनैप कर उनकी हत्या की है वो लश्कर-ए-तैयबा और हिजबुल मुजाहिद्दीन के छह आतंकवादी थे। सूत्रों के मुताबिक, इन सभी छह आतंकियों की पहचान भी सरकार ने कर ली है। इसके साथ ही इन आतंकियों को पकड़ने के लिए सर्च ऑपरेशन शुरु कर दिया है।

  आशंका है कि कुछ दिन पहले जिन दो जवानों से उनकी बंदूके छिनी गई थी, उसी बंदूक से लेफ्टिनेंट फैयाज की हत्या की गई है। पुलिस को दो खाली कार्टिरेज उसी जगह से मिली हैं, जहां पर लेफ्टिनेंट को गोली मारी गई थी। लेफ्टिनेंट फैयाज की ऑटोप्‍सी रिपोर्ट में भी इस बात का खुलासा हुआ है कि उन्‍हें क्‍लोज रेंज से गोली मारी गई थी।

जानकारी के मुताबिक, लेफ्टिनेंट फैयाज के शव के उपर से कोई टॉर्चर का निशान नही मिला है। लेफ्टिनेंट फैयाज का शव बुधवार की सुबह हरमाइन गांव के बस स्‍टॉप पर मिला था। आपको बता दें कि इस घटना को अंजाम हिजबुल मुजाहिद्दीन की ओर से दी गई धमकी के बाद दिया गया है। जिसमें स्‍थानीय कश्‍मीरी नागरिकों को सेना और पुलिस को ज्‍वॉइन न करने को कहा गया था।

ज्ञात हो कि हाल ही में हथियार लूट जाने की जो घटना हुई थी उसमें पुलिस को लश्‍कर के आतंकियों के शामिल होने के सुबूत मिले हैं। जबकि दो मई को शोपियां के कोर्ट कॉम्‍प्‍लेक्‍स में हथियार लूटने की जो घटना हुई उसमें हिजबुल के आतंकियों का हाथ था। ऐसे में हो सकता है कि इस घटना को उन्‍हीं में से किसी एक हथियार से अंजाम दिया गया हो।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...