रोजेदार मुसलमानों पर चीन का कहर… 100 को सुनाई इतनी सी छोटी बात पर सजा


चीन के शिनजियांग प्रांत में चीनी सरकार के नियम तोड़ने पर 100 वीगर मुसलमानों को सजा दी गई है। चीन सभी मुसलमानों को ये सजा रमजान में रोजा रखने पर सुनाई है। रेडियो फ्री एशिया (आरएफए) की रिपोर्ट में बताया गया है कि 27 मई को रमजान शुरू होने के बाद से करीब 100 वीगर मुसलमानों को काशगर और होतान में चीन सरकार की नीति तोड़ने के लिए सजा दी जा चुकी है। 
वीगर कांग्रेस के प्रवक्ता के अनुसार, चीन में मुस्लिम सरकारी कर्मचारियों को दबाव डालकर रोजा न रखने के लिए मजबूर किया जाता है जिससे वो सरकार के प्रति अपनी प्रतिबद्धता साबित कर सकें। नागरिक सुरक्षा दल और सुरक्षा एजेंटों का दल खेतों में जाकर लोगों को खाना और पानी दे रहे हैं ताकि वो रोजा न रख सकें। रिपोर्ट के मुताबकि, कुछ वीगर मुसलानों पर चीन सरकार ने जुर्माना लगाया गया है जबकि कइयों को “सुधारवादी शिक्षा” के लिए भेजा गया है। 
कुछ वीगर मुसलमानों पर चीन सरकार ने नियम तोड़ने के लिए 500 युआन तक का जुर्माना लगाया है। आरएफए की रिपोर्ट की मुताबिक, चीनी सरकार रमजान के दौरान दिन में लंच न करने वाले मुस्लिम सरकारी कर्मचारियों पर जुर्माना और अन्य तरह के प्रतिबंध लगाए हैं। जिन मुसलमानों को सजा सुनाई गई है उनमें से कुछ किसान हैं और कुछ राज्य सरकार के कर्मचारी या फिर सरकारी अधिकारी है। 

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share