अमेरिका के निशाने पर आ चुका है और और नया देश जिस से बदला लेने की फ़िराक में है इजरायल भी.. क्या फिर मचेगी तबाही

अफगानिस्तान , सीरिया , ईराक , सोमालिया आदि देशो में अपने युद्धक विमान से तबाही मचाने वाले अमेरिका ने अब अपना निशाना एक और देश पर लगाया है जिसके साथ उसके तनाव को फिलहाल तो चरम पर देखा जा सकता है . यहाँ सबसे ख़ास बात ये भी है कि इसी देश को पिछले काफी समय से आतंकवाद के खिलाफ सबसे बड़ी लड़ाई लड़ रहे इजरायल ने भी निशाने पर ले रखा है जिसके बाद ये जंग और वीभत्स रूप में आ सकती है .

ज्ञात हो कि अमेरिका के निशाने पर आ चुका ये देश ईरान है जिसके साथ अमेरिकी तनातनी खत्म होने के बजाय बढती जा रही है और हर दिन जंग के हालात नजदीक आते जा रहे हैं . किसी भी हाल में न झुकने की कसम खा चुके ईरान ने भी अमेरिका से दो दो हाथ करने का मन बना लिया है . ईरान की सेना के टॉप कमांडर ने शुक्रवार को अमेरिका को आँख दिखाते हुए एलान किया है कि इसी साल मार्च से अटलांटिक महासागर में ईरानी नौसेना के जंगी जहाज की तैनाती देखी जाएगी।

इसको सीधे सीधे अमेरिका के आमने सामने खड़े हो कर लड़ने की मुद्रा माना जाएगा .  खाड़ी में अमेरिकी एयरक्राफ्ट कैरियर को काउंटर करने के लिए ईरान ने अटलांटिक महासागर में अपने जंगी जहाज को उतारने का निर्णय लिया है। ईरानी कमांडर ने कहा इस साल की शुरुआत में ही अटलांटिक महासागर के लिए जंगी जहाजों का एक बेड़ा रवाना हो जाएगा। ईरान के स्टेट न्यूज एजेंसी IRNA से बात करते हुए रियर एडमिरल तौराज हसानी ने कहा, ‘अटलांटिंक महासागर दूर है और ईरानी जंगी जहाजों को ऑपरेशन के लिए कम से कम पांच महीनों का वक्त लग सकता है।’ उन्होंने कहा कि इस वॉरशिप बेड़े में साहंद डिस्ट्रॉयर को भी भेजा जाएगा, जो हाल ही में बनकर तैयार हुआ है। ईरान का सहांद डिस्ट्रॉयर पर हेलीकॉप्टरों के उड़ान के लिए एक छत बनी हुई है. इस मौके पर इजरायल की ख़ास नजर है और वो किसी भी स्थिति में ईरान के खिलाफ हल्ला बोल करने के मन में है .

Share This Post