इस्लामिक आतंकियों की दरिंदगी की शिकार वो चीख कर बोली– “4 माह तक अंडरवियर नहीं पहिना क्योंकि हर 10 मिनट में उसे उतरवाया जाता था”

इस्लामिक आतंकी दल ISIS किस कदर क्रूरता का नंगा नाच करता है, निर्दोषों के साथ दरिंदगी करता है, इसकी आपबीती सुनाई है फरीदा खलफ नामक एक युवती ने. फरीदा खलफ वो युवती है जिसे ISIS ने किडनैप किया तथा 4 महीने तक उसके साथ वो दरिंदगी की थी, जिसके सुनने मात्र से आप उठेंगे. ISIS के चंगुल से छूटकर आई फरीदा ने बताया है कि 4 महीने तक उसने अंडरवियर नहीं पहनी क्योंकि उसे तुरंत उतरवाया जाता था. ISIS के आतंकी जबरन अंडरवियर उतरवा देते तथा यौनाचार करते थे.

राहुल गांधी के करीबी और सेना के शौर्य पर सवाल उठाने वाले कांग्रेसी ने अब भारतीयों को कहा “बंदर”

ISIS के चंगुल से छूटकर आने के बाद फरीदा ने बताया था कि इन चार महीनों में उसके साथ रोज रेप होता था. फरीदा बताती है कि इतना ही नहीं चार महीने उसे बिना अंडवियर के रखा गया था क्योंकि हर रोज करीब 40-50 बार उसके साथ रेप किया जाता था. उसके साथ वहां और भी लड़कियां थी तथा उनके साथ भी ज्यादती और बर्बरता की जाती थी. फरीदा ने बताया था कि आतंकियों ने उनके साथ वो सब किया जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती और जो कोई जानवर के साथ भी नहीं करेगा.

मेरे खुद के परिवार के लोग प्रधानमंत्री रहे, पर देश को जो सम्मान मोदी ने दिलाया वो कोई नहीं दिला पाया- वरुण गांधी

फरीदा को आतंकियों ने इतनी बुरी तरह पीटा था कि उनके सिर की हड्डियां तीन जगह से टूट गई थीं. हालात ये हो गई कुछ समय के लिए उनकी आंखों की रोशनी तक चली गई. फरीदा ने बताया कि उसने कई बार खुदखुशी करने की भी कोशिश की लेकिन आतंकियों ने उसे बचा लिया. फिर एक दिन वो 8 लड़कियों के साथ भागने में कामयाब हो गई. उसने बताया कि वहां उसके साथ वो सब हुआ जो शायद ही किसी के साथ होता. आतंकियों ने उसके साथ जानवरों जैसे सुलूक किया.

BJP का एलान- फिर सत्ता में आये तो ख़त्म होगा हलाला भी

फरीदा ने बताया कि अगस्‍त 2014 में आईएसआईएस आतंकियों ने उसे, उसकी मां और दो भाईयों को 150 लड़कियों के साथ किडनैप कर लिया था. आतंकी उसे मोसूल ले गए थे और वहां उसके पिता को गोली मार दी थी. इसके बाद उसे अपनी फैमिली से अलग कर बाकी लड़कियों के साथ से’क्‍स स्लेव बना सीरिया के शहर रक्का भेज दिया गया, जो आईएस का गढ़ था. वहां उनके साथ दरिंदगी की सारी सीमायें लांघ दी गई थी. फिलहाल फरीदा अभी ठीक हैं और वो 21 साल की हो गई हैं. साथ ही अपना नया जीवन शुरू करने को तैयार हैं. इस वक्त वो जर्मनी के रेफ्यूजी कैंप में हैं.

क्या अम्बेडकर चाहते थे दलितों और मुसलमानों में एकता ? योगी आदित्यनाथ ने किया बड़ा खुलासा

Share This Post