पाकिस्तान में महामारी की तरह फ़ैल रहा है एड्स.. परिवार व रिश्तेदारी में ही शारीरिक संबंध बनाने के चलते मुश्किल हो रहा रोकना

आर्थिक मोर्चे पर पहले तबाह हो चुके इमरान खान के आतंकी मुल्क पाकिस्तान के लिए एक नई मुसीबत पैदा हो गई है. आतंकवाद पर अपने दोहरे रवैये के कारण जहाँ आतंकी मुल्क पाकिस्तान पूरी दुनिया में अलग थलग पड़ चुका है तो वहीं कर्ज में डूबे पाकिस्तान में बेतहाशा बढ़ती हुई महंगाई कारण जनता में हाहाकार मचा हुआ है.

इन सभी समस्याओं से जूझता पाकिस्तान एक और बड़ी मुसीबत में फंस गया है तथा ये मुसीबत पाकिस्तान के लिए दुनिया में शर्मिंदगी का सबब बन रही है. खबर के मुताबिक़, पाकिस्तान में HIV पॉजिटिव मरीजों की तादात में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. परिवार व रिश्तेदारी में ही शारीरिक संबंध बनाने के चलते इसको रोकना मुश्किल हो रहा है. पाकिस्तान स्वास्थ्य एजेंसियां एचआईवी पॉजिटिव मरीजों की बढ़ती संख्या से परेशान हैं.

मीडिया सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक़, पाकिस्तान में एचआईवी एड्स पीड़ितों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. सिंध प्रांत में एचआईवी पॉजिटिव मरीजों की संख्या बेकाबू सी हो गई है. पाकिस्तान के स्वास्थ एजेंसियों के आंकड़ों के मुताबिक सिंध प्रांत के लरकाना और रातोदेरो शहरों में 700 एचआईवी पॉजिटिव मरीज पाए गए हैं, जिसमें 576 बच्चे ही हैं. पाकिस्तान में एचआईवी एड्स पीड़ितों की संख्या बढ़ता देख WHO, UNICEF और UNAIDS जैसे स्वास्थ्य एजेंसियां हैरान है.

इन वैश्विक संस्थाओं ने हालात पर काबू पाने के लिए अपने प्रतिनिधियों को पाकिस्तान भेजा है. ये एजेंसियां इस रोग के मूल वजह पता लगानें में जुट गई है. विश्व स्वास्थ्य संगठन के 12 एक्सपर्ट की एक टीम कराची पहुंच चुकी है. डब्ल्यूएचओ के अधिकारियों के मुताबिक पाकिस्तान के सिर्फ एक इलाके में 700 से ज्यादा एड्स रोगियों के आंकड़ें से वो परेशान है. ये आंकड़ा दुनिया भर के एचआईवी एक्सपर्ट के लिए बेहद चिंता का विषय है.

Share This Post