संयुक्त राष्ट्र जाने वाले आज़म खान जैसे लोगों के मंसूबे ध्वस्त. यूरोपीय संसद ने पाकिस्तान को बताया आतंकी और असहिष्णु देश

पाकिस्तान अपने कारनामों के कारण हमेशा से मशहूर है। पाकिस्तान की सैन्य अदालत की यूरोप ने निंदा की है। यूरोपीय संसद ने अपने प्रस्ताव में पाकिस्तानी सैन्य अदालतों के कामकाज के तरीकों पर गहरी चिंता जताई है। इस प्रस्ताव में कहा गया है कि पाकिस्तान गुप्त तरीके से काम करता है और अपनी मनमानी करता है। यूरोपीय यूनियन की संसद के सदस्य ने कहा कि पाकिस्तान में मानवाधिकारों के हनन का स्तर बेहद चिंतनीय है। यहां तक कि आरोपियों को बचाव का मौका तक नहीं दिया जाता। या तो उन्हें मार दिया जाता है, या उन्हें गायब कर दिया जाता है।
पाकिस्तान पर पेश प्रस्ताव में ये भी कहा गया है कि पाकिस्तान अपने यहां तत्काल सैन्य अदालतों को पारदर्शी रूप से सिविल अदालतों में तब्दील करने की प्रक्रिया शुरू करे।यूरोपीय संसद पाकिस्तान में सैन्य बलों को मिली खूली छूट को लेकर चिंतित है। उसने पाकिस्तान सरकार से कहा है कि वह पाक सेना के क्रियाकलापों पर गंभीरता से नजर रखे। ईयू संसद ने पाकिस्तानी सरकार और सक्षम अधिकारियों से आग्रह किया है कि सैन्य बलों की हिरासत में होने वाली मौतों की गहन और बिना किसी पक्षपात के जांच करे। 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share