मुशर्रफ़ को मिल गया पार्टनर… कभी सेना के मुखिया रहे परवेज अब लड़ेंगे आतंकी संग चुनाव

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ खुलकर मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और भारत के मोस्ट वांटेड हाफिज सईद के समर्थन में उतर आए हैं. वे 2018 के चुनाव हाफिज सईद की पार्टी के साथ मिलकर लड़ना चाहते हैं। मालूम होता है कि राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ भी आंतक से आंतक के चेहरे से डरने लगा इसलिए तो वह राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ के साथ मिलकर चुनाव लड़ना चाहते है और इनको जनता पर भरोसा नहीं है तभी तो डर के सहारे चुनाव जीतना चाहते है।

बता दें कि चुनाव खुलासे की जानकारी पाकिस्तानी मीडिया ने दी और परवेज मुशर्रफ खुलकर बोले कि हाफिज सईद से गठबंधन करके चुनाव लड़ेंगे। इससे पहले मुशर्रफ ने कहा था कि वह तमाम दलों के साथ मिलकर एक बड़ा राजनीतिक गठबंधन तैयार करेंगे. यह बात उन्होंने तमाम दलों के साथ बैठक के बाद कही थी, जिसमें सुन्नी तहरीक, मजलिस ए वहादतुल, पाकिस्तान आवामी तहरीक सहित अन्य दल भी शामिल थे।

वैश्विक आंतकी घोषित होने के बावजूद पाकिस्तान के कुछ धार्मिक कट्टरपंथियों में अपना गहरा प्रभाव रखने वाले हाफिज सईद ने 2018 का आम चुनाव लड़ने की घोषणा की थी. हाफिज की तरफ से ये घोषणा उनकी नजरबंदी हटाने के फैसले के कुछ दिनों बाद की गई है।

बता दें कि मुशर्रफ ने हाल ही में कहा कि वह लश्कर-ए-तैयबा व उसके संस्थापक हाफिज सईद के बहुत बड़े समर्थक हैं. उन्होंने कहा कि कश्मीर में भारतीय सेना लोगों का दमन कर रही है, ऐसे में वह आतंकी संगठन का समर्थन करते हैं, जो कि भारतीय सेना के खिलाफ लड़ रही है। आपको बता दें कि हाफिज सईद भारत व अमेरिका के लिए वांटेड आतंकवादी है, उसपर 2008 में मुंबई हमलों को अंजाम देने का आरोप है, जिसमे 166 लोगों की जान चली गई थी। उनके सिर पर अमेरिका ने 10 मिलियन यूएस डॉलर का इनाम रखा है।

Share This Post

Leave a Reply