इजरायल में मिल रहे हैं मोदी के नाम पर वोट.. मोदी के प्रयासों से इतिहास में पहली बार इतने करीब आये भारत और इजरायल

भारत में अपने दम पर भारतीय जनता पार्टी को दो बार रिकॉर्ड जीत दिलाने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर इजरायल में वोट मांगे जा रहे हैं. जी हाँ, दुनिया के बेहद ही शक्तिशाली तथा इस्लामिक जगत के सबसे बड़े दुश्मन माने जाने वाले इजरायल के संसदीय चुनावों में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर वोट मांगे जा रहे हैं. खबर के मुताबिक़, इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू रत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दोस्ती के नाम पर इजरायल में लोगों से अपने पक्ष में वोट मांग रहे हैं.

मदरसे में अब तक मिल रहे थे हथियार, अब मिले रोहिग्या भी.. शरण के साथ रहना खाना सब मिल रहा था शामली में

इसके लिए इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने प्रचार के लिए पीएम मोदी के साथ फोटो वाली बड़ी बड़ी होर्डिंग्स लगवाई हुई हैं. इस तरह की होर्डिंग लोगों के आकर्षण का केंद्र बनी हुई है. पीएम मोदी के अलावा बेंजामिन नेतन्याहू ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और रूस के राष्‍ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ भी अपनी तस्वीरों की होर्डिंग प्रचार के लिए लगवाई है. इजरायली पत्रकार अमिचाई स्टेन ने रविवार को एक बिल्डिंग के बाहर टंगे बैनर को अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा किया है जिसमें बेंजामिन नेतन्याहू पीएम मोदी के साथ नजर आ रहे हैं.

3 तलाक पर धैर्य खो रही मुस्लिम महिलायें.. ससुर को सरेराह जमकर पीटा

मोदी के अलावा इजरायली पीएम नेतन्याहू ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप तथा रुस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ भी ऐसी होर्डिंग्स लगवाई हैं. बता दें कि इजरायल में 17 सितंबर को चुनाव होना है, इसी मद्देनजर हर जगह चुनाव प्रचार से संबंधित पोस्टर देखने को मिल रेह हैं. अपने चुनाव प्रचार में नेतन्याहू लोगों के बीच वैश्विक स्तर पर अपनी कूटनीतिक सफलता को रख रहे हैं. साथ ही पोस्टर के जरिए यह दिखाने की कोशिश हो रही है कि कैसे उन्होंने इजरायल के संबंध दुनिया के बड़े देशों के राष्ट्राध्यक्षों के साथ बेहतर किए हैं. यहां यह गौर करने वाली बात है कि नेतन्याहू इजरायल के इतिहास में सबसे लंबे समय तक बतौर प्रधानमंत्री अपनी सेवा देने वाले नेता हैं.

मदरसे में छापा मारना इतना भी आसान नहीं था.. लेकिन जो आसान नहीं था वो कर के दिखाया शामली पुलिस ने, IPS अजय कुमार के नेतृत्व में

ज्ञात हो कि भारत और इजरायल के बीच आर्थिक रिश्ते काफी मजबूत हैं, इसके अलावा सैन्य और रणनीतिक तौर पर भी दोनों देशों के रिश्ते काफी दृढ़ हैं. नरेंद्र मोदी के भारत का प्रधानमंत्री बनने के बाद दोनों देशों के बीच रिश्तों में और भी मजबूती देखने को मिली है. खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इजरायल के दौरे पर गए थे. इस दौरान पीएम मोदी का नेतन्याहू ने जबरदस्त स्वागत किया था. दोनों नेताओं की मुलाकात ना सिर्फ भारत और इजरायल बल्कि दुनियाभर में सुर्खियां बनी थी. यही कारण है कि नेतन्याहू पीएम मोदी के नाम पर इजरायली जनता से वोट मांग रहे हैं.

जो अनपढ़ आतंकी थे वो मार पाते 2-4 भक्तों को, जो पढ़ा लिखा आतंकी था उसने हजारों हिन्दुओं को मारने की कर ली थी तैयारी

बता दें कि बेंजामिन नेतन्याहू पहले वर्ल्ड लीडर थे जिन्होंने पीएम मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी थी. 2019 के लोकसभा चुनावों मोदी जी की बड़ी जीत के बाद नेतन्याहू ने कहा था कि इस चुनाव में जबरदस्त जीत के साथ ही उनकी दोस्ती और दोनों देशों के बीच रिश्ते और भी मजबूत होंगे. गौरतलब है कि भारत और इजरायल के बीच सैन्य क्षेत्र में काफी अहम करार हैं और इजरायल सैन्य क्षेत्र में भारत को आधुनिक तकनीक मुहैया कराता है. नेतन्याहू को उम्मीद है कि उन्हें इजरायल की जनता एक बार और देश का नेतृत्व सौंपेगी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं

Share This Post