जिस विदेशी जेमिमा को इमरान खान ने निकाह के बाद तलाक दिया था उसी ने इमरान सरकार ने लगाया ये बड़ा आरोप


पाकिस्तान के नए नवेले प्रधानमन्त्री इमरान खान को पाकिस्तान की सत्ता संभाले अभी ज्यादा समय नहीं हुआ है लेकिन उनकी मुश्किलें लगातार बढ़ती जा रही हैं तथा उन पर ऐसे आरोप लग रहे हैं जिससे न सिर्फ इमरान बल्कि पाकिस्तान की छबि दुनिया में और ज्यादा बिगड़ रही है. इमरान खान की पूर्व पत्नी जिन्हें वह तलाक दे चुके हैं, ने इमरान खान पर बड़ा आरोप लगाया है. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान की पूर्व पत्नी जेमिमा गोल्डस्मिथ ने पाकिस्तान सरकार द्वारा नवगठित आर्थिक सलाहकार परिषद (ईएसी) से मशहूर अर्थशास्त्री आतिफ मियां का नामांकन वापस लेने की कड़ी आलोचना की है तथा कहा है कि इमरान खान की सरकार कट्टरपंथियों के आगे झुक रही है.

आपको बता दें कि पाकिस्तान की इमरान खान की सरकार ने आतिफ मियां के अहमदिया संप्रदाय से होने के कारण कट्टरपंथियों के दबाव में आकर उन्हें ईएसी की सदस्यता छोड़ने को कहा था. कट्टरपंथियों के दबाव में आकर शुक्रवार को इमरान खान के नेतृत्व वाली सरकार ने प्रख्यात अर्थशास्त्री मियां का नवगठित आर्थिक परिषद से नामांकन वापस ले लिया था. गौरतलब है कि पाकिस्तान के संविधान में अहमदियों को गैर मुस्लिम घोषित किया गया है और कई इस्लामी विचारधाराओं में उनकी मान्यताओं को ईशनिंदा माना जाता है. अक्सर कट्टरपंथी उनको निशाना बनाते रहे हैं और उनके धार्मिक स्थलों में भी तोड़फोड़ भी की जाती रही है. मियां को हाल ही में 18 सदस्यीय ईएसी के सदस्य के तौर पर नामित किया गया था. ‘शीर्ष 25 प्रतिभाशाली युवा अर्थशास्त्रियों’ की अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष सूची में शामिल वह अकेले पाकिस्तानी हैं. मैसाचुसेट्स इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलोजी से शिक्षित आतिफ मियां प्रतिष्ठित प्रिंस्टन यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर हैं और वह पाकिस्तानी-अमेरिकी हैं.

अआप्को बता दें कि आतिफ मियां को पाकिस्तान सरकार द्वारा नवगठित आर्थिक सलाहकार परिषद (ईएसी) में जगह दी थी, जिसे लेकर पाकिस्तानी कट्टरपंथी लोगों ने इमरान सरकार पर आतिफ मियाँ को हटाने का दवाब बनाया था क्योंकि वह अहमदिया समुदाय से आते हैं. जेमिमा ने मियां का नामांकन वापस लिए जाने पर शुक्रवार को ट्वीट किया, ”इसका बचाव नहीं किया जा सकता और यह काफी निराशाजनक है.” उन्होंने कहा, ”याद रहे, पाकिस्तान के कायदे-आजम (मोहम्मद अली जिन्ना) ने एक अहमदिया मुसलमान को देश का विदेश मंत्री नियुक्त किया था.”


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...