सरदारों के साथ बड़ा धोखा करके पाकिस्तान ने सिद्धू के पाकिस्तान प्रेम को अपने अंदाज में दिया जवाब… मामला करतार साहिब से जुड़ा हुआ

जिस दिन भारत रत्न पूर्व प्रधानमन्त्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन पर पूरा देश शोक के सागर में डूबा हुआ था, उसी दिन कांग्रेसी नेता नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान जाकर पाकिस्तान के नये प्रधानमन्त्री इमरान खान के शपथ ग्रह में शामिल होकर जश्न मना रहे थे. यहाँ तक होता तो फिर भी ठीक था लेकिन इसी दौरान नवजोत सिंह सिद्धू भारतीय सेना के जवानों के क़त्ल के जिम्मेदार पाकिस्तान के आर्मी चीफ जावेद बाजवा के गले भी मिले. इस शर्मनाक कृत्य के बाद सिद्धू की जमकर आलोचना हुई तो भारत लौटकर सिद्धू ने कहा था कि बाजवा ने करतार साहब के दर्शन के लिए रास्ता खोलने का भरोसा दिलाया था, जिस पर मैं उनके गले लग गया.

लेकिन अब नवजोत सिंह सिद्धू एक बार पुनः निशाने पर हैं तथा इसका कारण भेई पाकिस्तान ही है. आपको बता दें कि पाकिस्तान ने नवजोत सिंह सिद्धू के उस दावे को खारिज कर दिया है जिसमें उन्होंने कहा था कि उनकी पाक आर्मी चीफ से करतार साहब के दर्शन के लिए द्वार खोलने को लेकर बात हुई थी. पाकिस्तान ने नवजोत सिंह सिद्धू के दावे को खारिज करते हुए कहा है कि सिद्धू से ऐसी कोई बात कोई नहीं हुई थी. ब पाकिस्तान की तरफ से स्पष्टीकरण जारी कर कहा गया है कि एक घटना से इसका फैसला नहीं हो सकता है। इसकी एक लंबी प्रक्रिया है और दोनों देशों के बीच बातचीत के बाद ही इस पर फैसला हो सकता है. इस तरह से पाकिस्तान ने साफ़ कर दिया है कि करतार साहब के द्वार नहीं खोले जायेंगे.

बता दें कि करतारपुर में गुरु नानक देव ने अपने जीवन के 18 बरस गुजारे थे, इसलिए यह सिख समाज के लिए बेहद पवित्र माना जाता है. पाक आर्मी चीफ से गले मिलने के बाद सिख समाज से सहानुभूति लेने के लिए सिद्धू ने कहा था कि आर्मी चीफ बाजवा ने मुझे पहली पंक्ति में बैठे देखा तो मेरे पास आए. उन्होंने मुझे बताया कि गुरुनानक साहब के 550वें प्रकाश दिवस पर भारत के डेरा बाबा नामक से लेकर पाकिस्तान में स्थित करतारपुर साहब के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं को बिना रोक-टोक पथ प्रदान करने की कोशिश कर रहे हैं तो इसके बाद मैं उनके गले लग गया था लेकिन अब पाकिस्तान ने सिद्धू के इस दावे को खारिज कर दिया है जिसके सिद्धू राजनैतिक गलियारों में तो निशाने पर हैं ही, साथ ही वह सिख समाज के निशाने पर भी आ गये हैं.

Share This Post