#IndianArmy ने चटनी की तरह पीस दिया तो अपने ही लोगों का क़त्ल करना शुरू कर दिया पाकिस्तानी फ़ौज ने… ये हम नहीं खुद एक पाकिस्तानी कह रहा है


कश्मीर को लेकर हिन्दुस्तान को घेरने का प्रयास करने वाला आतंक का पनाहगार मुल्क पाकिस्तान अपने ही घर में बेनकाब हो गया है. दुनियाभर में हिन्दुस्तान की बढ़ती हुई ताकत से बौखलाकर हर अन्तर्राष्ट्रीय मंच पर हिंदुस्तान के खिलाफ आग उगलने वाले पाकिस्तान की वास्तविकता को पाकिस्तान के लोग ही सामने ला रहे है तथा कश्मीर में मानवता की दुहाई देने वाले पाकिस्तान के क्रूरतम तथा निर्दयी चेहरे को उजागर कर रहे हैं. जब पाकिस्तानी सेना भरतीय सेना के मुकाबले टिक न सकी तो हताशा में पाकिस्तानी फ़ौज अपने ही लोगों का क़त्ल करने पर उतारू हो गयी है.

अभी तक बलूचिस्तान को लेकर टूट की कगार पर खड़े पाकिस्तान के खिलाफ पश्तूनों ने भी मोर्चा खोल दिया है. अब पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर PoK के निर्वासित नेता शौकत अली कश्मीरी ने आतंकवाद की पनाहगाह बने देश के खौफनाक हालात को लेकर अपनी सेना का घिनौना चेहरा बेनकाब किया है. शौकल अली ने मानवाधिकार उल्लंघन को लेकर पश्तूनों के आंदोलन के बीच कहा कि पाकिस्तानी सेना आज अपने ही देश के लोगों की लोगों की हत्याएं कर रही है. शौकत अली कश्मीरी ने ये भी बताया कि लश्कर-ए-तैयबा, हिजबुल जैसे आतंकी संगठन पाकिस्तानी सैन्य जनरलों के प्रॉक्सी (प्रतिनिध) हैं तथा ये आतंकी संगठन सेना के साथ मिलकर लोगों का क़त्ल कर रहे हैं.

गौरतलब है कि हाल ही में पाकिस्तान में व्यापक स्तर पर आंदोलन के रूप में उभर रहे पश्तूनों ने पाक सेना पर उत्पीड़न का आरोप लगाया था तथा पश्तून लोगों ने पाकिस्तान के खिलाफ बड़ा अभियान चलाया हुआ है. दरअसल पाक सेना की कार्रवाई के दौरान पिछले कुछ वर्षों में कई पश्तून लापता हो चुके हैं तो कई पश्तूनों को मारा जा चुका है. पाक सेना वहां रह रहे पश्तूनों का दमन कर रही है और उनके मानवाधिकारों का उल्लंघन कर रही है. पश्तूनों का आरोप है कि पाकिस्तान उनके साथ गुलामों जैसा व्यवहार कर रही है. बीते कुछ महीनों में मंजूर पश्तीन (25) की पाकिस्तान में काफी लोकप्रियता बढ़ी है क्योंकि उन्होंने पश्तूनों की रक्षा के लिए पाकिस्तान सरकार तथा सेना के खिलाफ बड़ी लड़ाई छेड़ी हुई है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...