Breaking News:

विश्वास किया ज्योति ने और पहुच गयी इस्लामिक मुल्क.. पैसे कमाने, अब मुफ्त में नोचा जा रहा जिस्म और रिहाई की मांगी जा रही फिरौती

जहां एक ओर भारत महिला शक्तिकरण पर बल दे रहा है वही दूसरी तरफ मस्कट महिलाओ का शोषण कर रहा है। मोदी सरकार आए दिन महिलाओ की सुरक्षा को लेकर कदम उठाती रहती है। मस्कट जो ओमान की राजधानी है वहा महिलाओ को दूसरे देशो से एजेंटो द्वारा लाया जाता है और उनपर अत्याचार किये जाते है। ये सिलसिला काफी समय से चल रहा है।

अब जाकर ये मामला सबके सामने आया है जब मस्कट पहुंची 4 महिलाओं के परिवारों ने भारत सरकार, पुलिस प्रशासन को प्रार्थना पत्र भेजकर इंसाफ की गुहार लगाई। पहले महिलाओ को झूठे सपने दिखाकर उन्हें अपनी बातो में फसाते है। महिलाओ को नौकरी दिलाने का हवाला देकर उन्हें विदेश ले जाते है और उनसे दिन रात काम कराते है। महिलाओं से 2-3 माह तक काम करने के बाद भी वेतन नहीं दिया।
बता दे कि विदेश में बंधक बनाकर रखीं रज्जी निवासी गांव पबाराली व ज्योति निवासी हरचोवाल के पारिवारिक सदस्यों ने बताया कि कुछ माह पूर्व कादियां व अमृतसर के एक एजैंट ने इन महिलाओं को लोगों के घरों में कार्य करने हेतु मस्कट के ओमान भेजा था। रज्जी व ज्योति सहित अमृतसर की अन्य महिलाओं को एजैंट ने बंधक बनाकर रखा है, जहां महिलाओं का मानसिक व शारीरिक शोषण किया जा रहा है। इस बात की जानकारी मिलते ही महिलाओं के परिवारों ने पुलिस को सूचित किया। परिजनों ने बताया कि उक्त एजैंट महिलाओं को वापस भारत लाने के लिए 2 लाख रुपए की मांग कर रहा है। 
Share This Post

Leave a Reply