Breaking News:

रूस में अब सिर्फ रुसी मीडिया चलेगी .. पुतिन का सबक है अपने देश में विदेशी नागों को पालने का समर्थन करने वालों को

मास्को में 26 नवंबर को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने एक नए कानून को संसद दवारा पास करवा कर उस कानून पर हस्ताक्षर किए है। बता दें कि इस कानून में साफ साफ यह जिक्र है कि विदेशी मीडिया संस्थान को ‘फॉरेन एजेंट’ के रूप में सूचीबद्ध करना होगा। इन कानूनों से विदेशी मीडिया संस्थानों को सरकार से वित्तीय सहायता बाधित होगी और विदेशी मीडिया सरकार विरोधी गतिविधियों व अपने देश के अजेंडो का प्रसार न कर पाएंगे ।

बता दें कि बीबीसी रिपोर्ट के मुताबिक रूस ने क्रेमलिन समर्थित ब्रॉडकास्टर ‘आरटी’ को अमेरिका में फॉरेन एजेंट के रूप में पंजीकृत किए जाने के आदेश के जवाब में संसद ने इस बिल को मंजूरी दी थी। इस नए कानून से ‘वॉयस ऑफ अमेरिका’ और ‘रेडियो फ्री यूरोप रेडियो लिबर्टी’ सहित करीब नौ अमेरिकी वित्त पोषित प्रसारक प्रभावित हो सकते हैं। अमेरीका ने यह आरोप लगाया कि,” रूस ने ‘आरटी’ (विदेशी मीडिया संस्थान ) से अमेरिकी चुनाव में कथित रूप से हस्तक्षेप किया और हालाकि बाद में उसने आरोप को ख़ारिज कर दिया।”
रूस का यह कानून विदेशी-पंजीकृत मीडिया को प्रभावित करता है जो रूस के बाहर से वित्त पोषण प्राप्त करते हैं। ऐसे मीडिया संस्थान अब अतिरिक्त आवश्यकताओं के अधीन हो गए हैं और इनका अनुपालन न होने की स्थिति में इनकी गतिविधियां निलंबित हो सकती हैं। अगर में रूस में विदेशी मीडिया अपना प्रसारण करते हे तो उन्हें अपने को वेबसाइटों में खुद को फॉरेन एजेंट बताना होगा। ऐसा ही पहले एक कानून रूस ने अपने देश में ही धर्मार्थ और अन्य नागरिक समाज समूहों के लिए है बनाया था और रूस का न्याय मंत्रालय रूस में यह तय करेगा कि विदेशी मीडिया किन परिस्थितियों में अपने कार्यक्रम को प्रसारण करेगा। इसी बीच रूस के मीडिया “आरटी” ने अमेरिका में एक फॉरने एजेंट के रूप में पंजीकृत कराया। रूस और अमरीका के आपसी टकराव से रूस ने विदेशी मीडिया पर अकुंश लगाने की लिए नए कानून को बनाया। 
Share This Post

Leave a Reply