Breaking News:

इस्लामिक मुल्क दुबई में भारतीयों को असहिष्णु बोल गए राहुल गांधी

ये मंच अन्तराष्ट्रीय स्तर का था..यहां पर दुनिया देख रही थी भारत के उस व्यक्ति को जो है प्रधानमंत्री की रेस में ..स्थान था दुबई जो इस्लामिक मुल्क है और भारत के तमाम दुर्दांत अपराधियो की शरणस्थली भी..यहां पर एक कड़ा संदेश देने की जरूरत थी जो भारत के बढ़ते प्रभाव का परिचायक बनता लेकिन विदेशी धरती पर भारत ही नही भारतीयों को असहिष्णु बोल कर आखिर क्या साबित कर गए राहुल गांधी ? जो आरोप भारत मे हामिद अंसारी व नसरुद्दीन शाह जैसे लोग लगा रहे लगभग वही आरोप लगाया है राहुल गांधी ने देश के बाहर .. सवाल ये है कि क्या सच में भारत वाले हो चुके हैं गुस्सैल व असहिष्णु , जैसा कि राहुल गांधी बोल रहे हैं ..

दुबई से मोदी सरकार पर राहुल का वार- ‘पिछले साढ़े चार सालों में भारत में बढ़ा गुस्सा’. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी केंद्र की मोदी सरकार पर लगातार हमला कर रहे हैं। संयुक्त अरब अमीरात दौरे के दौरान भी उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधा। सरकार पर बरसते हुए दुबई में शनिवार को राहुल गांधी ने कहा कि पिछले साढ़े चार वर्षों में भारत में असहिष्णुता और गुस्सा बढ़ा है और यह सत्ता में बैठे लोगों की मानसिकता की उपज है। वह 2 दिन की संयुक्त अरब अमीरत (यूएई) की यात्रा पर हैं। यात्रा के दूसरे दिन उन्होंने कहा कि भारत लोगों पर एक विचारधारा नहीं थोपता बल्कि अनेकों विचारों को आत्मसात कर सकता है। राहुल गांधी ने आईएमटी दुबई विश्वविद्यालय के छात्रों से बातचीत में कहा, ‘भारत ने विचारों को गढ़ा है और विचारों ने भारत को गढ़ा है।

अन्य लोगों को सुनना भी भारत का विचार है।’ कांग्रेस नेता ने कहा कि भारत ‘भूख’ जैसी बड़ी चुनौतियों का सामना कर रहा है, ऐसे में देश में खेल को नंबर एक की प्राथमिकता देना कठिन है। कांग्रेस अध्यक्ष ने शुक्रवार को यहां संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मख्तूम से मुलाकात की और भारत तथा यूएई के बीच के मजबूत द्विपक्षीय संबंधों को लेकर चर्चा की थी। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘सहिष्णुता हमारी संस्कृति का अभिन्न हिस्सा है, लेकिन हमने पिछले साढ़े चार वर्षों में बहुत सा गुस्सा और समुदायों के बीच खाई देखी है। यह सत्तापक्ष में बैठे लोगों की मानसिकता से उपजा है।’ उन्होंने कहा, ‘हम एक ऐसा भारत पसंद नहीं करेंगे जहां पत्रकारों को गोली मार दी जाती है, जहां लोगों की हत्या इसलिए कर दी जाती है क्योंकि उन्होंने अपनी बात रखी। ये कुछ ऐसी चीजें हैं जिन्हें हम बदलना चाहते हैं, आने वाले चुनाव में यही चुनौती है।

Share This Post