उस विदेश नीति की जय हो जिस ने पहली बार अमेरिका से भी कहलवा दिया कि पाकिस्तान में खतरे में हैं हिन्दू…

पाकिस्तान हिन्दुओं के लिए कब्रगाह है। भारत में जिस तरह से हर धर्म के लिए बिलकुल आजादी है वैसा पाकिस्तान में नहीं है। पाकिस्तान आतंकवाद पर चौतरफा

घिरा हुआ है। धार्मिक आजादी भी पाकिस्तान में खतरे में है। किसी की धार्मिक आजादी पर हमला बोल जबरन उसको इस्लाम क़ुबूल करवाना पाकिस्तान में आम

बात है।

अमेरिका ने भी मान लिया हैं पाकिस्तान में अलप्संख्यको(हिन्दु) खतरे में है।

अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने एक रिपोर्ट जारी की है और उसमे कहा है

कि पाकिस्तान में धार्मिक अल्पसंख्यकों के अधिकारों और धार्मिक आजादी को संरक्षण नहीं दिया जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्तान में सिख, ईसाई और

हिंदू जैसे अल्पसंख्यक जबरन धर्मांतरण के डर में रहते हैं और जबरन उनपर इस्लाम थोपा जा रहा है।

रिपोर्ट में पाकिस्तानी हुक्मरानों पर भी आरोप लगाए गए है। रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि केंद्र और राज्य सरकारों के स्तर पर हिंदू, सिख और ईसाइयों की

आजादी सुनिश्चित करने वालों कानूनों पर सही ढंग से अमल नहीं किया जा रहा है।

रिपोर्ट ने पाकिस्तान सरकार को सीधे तौर पर इसके लिए

जिम्मेदार ठहराया गया है।

रिपोर्ट में धार्मिक अल्पसंख्यक समुदाय के लोगो के हवाले से बताया है की ”धार्मिक अल्पसंख्यकों की शिकायत है कि वे धर्मांतरण की समस्या को सुलझाने के

लिए सरकार के अपर्याप्त कदमों को लेकर चिंतित रहते हैं। गौरतलब हो की पाकिस्तान से अक्सर हिन्दूओं पर हमले की खबरे, धर्मान्तरण की खबर,अलप्संखयको

को परेशान करने, और हिन्दुओ को अपने आधिकारों के लिए विरोध प्रदर्शन की खबरे आती रहती हैं।

Share This Post

Leave a Reply