Breaking News:

पाकिस्तान के बाद ईरान के निशानें पर सऊदी अरब. बोला- मक्का मदीना छोड़ सब हो जाऐगें तबाह

कई देशों के लिए इस्लामिक आतंक आज सबसे बड़ा नासूर बन गया है. इस आतंक से निपटने के लिए आज एक इस्लामी देश दुसरे इस्लामी देश के सामने खड़ा हो गया है. आज सभी का एक मकसद है कि इस्लामिक आतंक को ख़त्म करना है. इस्लामी गणतंत्र ईरान के रक्षा मंत्री हुसैन देहकन ने सऊदी अरब की सरकार को चेतावनी दी है कि अगर सऊदी ने ईरान के खिलाफ कोई गलत कदम उठाया तो ईरान से बुरा कोई नहीं होगा. ईरान के रक्षा मंत्री हुसैन देहकन ने कहा सऊदी सरकार कुछ करने से पहले अपने बारे में सोच ले, अगर कुछ भी गलत किया तो सऊदी अरब में केवल मक्का मदीना ही सुरक्षित रह जायेगा बाकि शहरो को हम राख बना देंगे.

ईरान के रक्षा मंत्री ने कहा की सऊदी अब इस हद तक पहुंच गया है कि वो इस्राईल के कदम धो कर पीने को तैयार है. हुसैन देहकन ने कहा कि सऊदी अरब इस्राईली प्रधानमंत्री नेतनयाहू की चापलूसी कर रहा है. ताकि वो ईरान के विरुद्ध कोई कार्यवाही कर सके. हुसैन देहकन ने कहा कि सऊदी अरब इस्लामिक आतंक का प्रचार न करें वरना इसका जवाब देना होगा. हुसैन देहकन सऊदी सरकार से सवाल पूछा कि “क्या इस्लामी जगत का हित इस्राईल से एकजुटता बना लेने में है” या फिर अमेरिका का दामन थाम लेने में है ?

सूत्रों के मुताबिक, हुसैन देहकन ने सऊदी रक्षा मंत्री मोहम्मद बिन सलमान को धमकी दी है की जनता बड़े अंधविश्वास में जी रही है और सऊदी को खुद नहीं पता की वो क्या कर रहे है, जिसका एक मात्र एक कारण है अज्ञानता, घमंड, और अनुभवहीनता. आपको बता दें की रक्षा मंत्री हुसैन देहकन अपने बयान में कहा है कि यह पहला मौका नहीं है की जब सऊदी अरब ने यमन के खिलाफ युद्ध छेड़ा हो, यह चौथा युद्ध है. सऊदी अरब इससे पहले तीन युद्ध हार चूका है.       

Share This Post