Breaking News:

शिया मुल्क ईरान ने पेश किया हौसले का नायब सबूत. बाहर चल रही थी गोलियां अंदर चल रही थी संसद की करवाई

ईरान की राजधानी तेहरान में संसद में आईएसआईएस द्वारा किये गये आतंकी हमले ने पुरे देश में कोहराम मचा दिया है। ईरान में संसद और अयातुल्ला खुमैनी के मकबरे पर हुए बम धमाके में मरने वालों की संख्या 13 जा पहुंची है। और घायलो की संख्या 43 हो गई हैं। बता दें कि ईरान में हुए इस हमले की जिम्मेदारी आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली है और एक वीडियो भी जारी किया है जिसमें दिखाया गया है कि आतंकवादी महिलाओं के कपड़ों में आये थे और एक बंदूकधारी आतंकी पहले से ही संसद में मौजूद था और वही पास में ही एक व्यक्ति घायल के रूप में था।
वहीं, हमले के बाद दिए गए बयान में उप गृहमंत्री मोहम्मद होसैन जोलफाघरी ने कहा की आतंकवादी महिलाओं के कपड़े पहने हुए थे और संसद के मुख्य प्रवेश द्वार के रास्ते संसद में आये थे। संसद में जा रहे आतंकीयों को जब सुरक्षाबालों ने रोका तो एक आतंकी ने खुद को गोली मार लिया और दूसरे आतंकी को वहां मौजूद सुरक्षाकर्मियों ने मार गिराया। गौरतलब है की जिस समय आतंकवादी हमला किया गया था उस समय संसद में लोग मौजूद थे और आतंकवादीयों ने संसद के अंदर लोगों को बंदी बनाया था।
जैसे ही हमले के बारे में जानकारी मिला तो ऐसा लगा कि ये एक सुनियोजित हमला है। लेकिन धीरे-धीरे तस्वीर साफ होने लगी और इस्लामिक स्टेट ने इसकी खुद जिम्मेदारी ले ली। मार्च में आईएस ने फारसी भाषा में एक वीडियो जारी किया था जिसमें ईरान देश को चेतावनी देते हुए कहा था। कि वो ईरान पर विजय हासिल कर उसे सुन्नी मुस्लिम राष्ट्र बनाएगा। वहीं, पर ईरान के सांसदों ने आतंकीयों को अलग अंदाज में मुहतोड़ जवाब देते हुए उन्हें आतंक के मुंह पर जोरदार तमाचा मारा और आतंकी हमले के बीच ईरान के सांसदों ने एक के बाद एक सेल्फी लिया और उसे सोशल साइट पर अपलोड भी किया। 
Share This Post