ISIS का दावा- “भारत में बन चुका है उसका एक प्रांत जिसका नाम है- ‘विलायाह ऑफ हिंद’.. आतंक प्रेमी अनोखे कथित सेकुलरिज्म का दिख रहा असर

एक वर्ग को खुश करने में और दूसरे वर्ग को दबाने के चक्कर में अपनी सभी सीमायें पर कर देने वाले तथाकथित सेकुलरिज्म की राजनीति ने अपना ऐसा रूप दिखाना शुरू कर दिया है जिसकी कल्पना भी आम आदमी के समझ से परे है . भारत में सेकुलरिज्म के नाम पर चल रही राजनीति के बीच में अब संसार के सबसे बड़े आतंकी संगठन ISIS का ऐसा बयान आया है जो किसी आम व्यक्ति के रोंगटे उनके घर परिवार की सुरक्षा अदि के ख्याल को ले कर खड़े कर सकता है .

जब सिद्धार्थ हिन्दू था तब वो सेकुलर था.. फिर उसने कबूला इस्लाम और बन गया अबू रूमायशा. अब वो है सीरिया का सबसे दुर्दांत आतंकी

कई एजेंसियों की जांच में क्लीन चिट पा चुकी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर के पीछे वोटो के चक्कर में हाथ धो कर पड़े कुछ राजनेताओं ने भले ही शोर मचा कर इस खबर को दबाने की कोशिश की हो लेकिन अब ISIS ने बाकायदा भारत में अपना एक प्रान्त भी होने का एलान कर दिया है . न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक सुरक्षाबलों और आतंकवादियों के बीच कश्मीर में मुठभेड़ के बाद यह दावा किया गया है कि उन्होंने भारत में अपनी जड़ें काफी गहरी और मजबूत बना ली हैं .

बजरंग दल के प्रखंड संयोजक को गोलियों से भूना गया.. नफरत इतनी कि मारी 9 गोलियां

ईराक और सीरिया में रूसी और अमेरिकी फौजों के हाथो लगातार मौतों के बाद अब ISIS की विचारधारा ऐसे देश की तलाश में है जहाँ उसको और उसकी सोच को ढकने वाले लोग हों .. उसको कई देश ऐसे मिले होंगे जहाँ आतंकियों के लिए दया की गुहार लगाते हुए रातों में भी अदालतें लगवाई जाती हैं .. आईएस एमाक न्यूज एजेंसी ने शुक्रवार को नए प्रांत का नाम ‘विलायाह ऑफ हिंद’ बताया. आईएस से सहानुभूति रखने वाली श्रीनगर की एक मैगजीन को भी भारत में सेना के हाथो मारे गये इस्लामिक आतंकी ISIS से जुड़े दुर्दांत सोफी ने इंटरव्यू दिया था.

जमीन कब्ज़ा कर के जबरन नमाज़ पढ़ने की आग में झुलस गया बंगलादेशी दरिंदो के बोझ तले दबा असम.. उतरी पैरामिलिट्री

इस्लामिक आतंकवादियों पर नजर रखने वाले SITE इंटेल ग्रुप की डायरेक्टर रीटा काट्ज ने कहा, ”ऐसे क्षेत्र में ‘प्रांत’ की स्थापना जहां वास्तविक प्रशासन जैसा कुछ नहीं है, बेतुका ही है, लेकिन इसे हलके में नहीं लिया जाना चाहिए”. उन्होंने कहा, “दुनिया इन चीजों पर आंखें मूंद सकती है, लेकिन इन कमजोर क्षेत्रों में जिहादियों के लिए ये आईएस ‘खलीफा’ के नक्शे के पुनर्निर्माण में जमीनी स्तर पर मदद करने के लिए जरूरी संकेत हैं.”

भोजपुरी एक्टर निरहुआ के साथ उतरे और भी भोजपुरी कलाकार.. अखाड़ा बना आज़मगढ़

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post