भारत में अफजल गुरु के बेटे के बताये जाते रहे नंबर… श्रीलंका में आतंकी के अब्बा और दो भाइयों को भी पुलिस ने उतारा मौत के घाट


देश के दुश्मन आतंकियों के खिलाफ किस तरह से पेश आया जाता है, इसके लिए अभी तक लोग रूस तथा इजरायल का उदाहरण देते रहे हैं. लेकिन श्रीलंका इस्लामिक आतंकियों के साथ जिस तरह से पेश आ रहा है, उसने पूरी दुनिया को चौंका दिया है. श्रीलंका के चर्चों तथा होटलों पर इस्लामिक आतंकियों के हमले के बाद श्रीलंकाई सत्ता तथा वहां के सुरक्षा बलों ने रौद्र रूप अख्तियार कर लिया है तथा आतंकियों को चुन-चुन कर निशाना बनाया जा रहा है.

आतंक की वजह अशिक्षा व गरीबी ? श्रीलंका में गिरफ्तार हो रहे प्रिंसिपल और डॉक्टर.. न वो अशिक्षित थे और न ही गरीब

सीरियल बम धमाकों के बाद श्रीलंकाई सुरक्षा एजेंसियों का तलाशी अभियान जारी है. हमले से जुड़े लोगों तक पहुंचने के लिए श्रीलंका में भारी मात्रा में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं जो न सिर्फ आतंकी बल्कि उनके आकाओं को भी जन्नत पहुंचा रहे हैं. खबर के मुताबिक़, श्रीलंका में हमले के मुख्य आतंकी के अब्बा तथा दो भाइयों को श्रीलंकाई सुरक्षा बलों ने मौत के घाट उतार दिया है. श्रीलंका का ये रुख भारत के उन लोगों को एक आईना है जो आतंकी अफजल गुरु के बेटे का के परिक्षा परिणाम को लेकर उसके गुण गाते हैं.

“हमारा देश तत्काल छोड़ दें सभी विदेशी मौलाना वरना उनसे अब सीधे पुलिस मुलाक़ात करेगी” … श्रीलंका के नए रूप ने इजरायल को भी पछाड़ा

सीरियल बम धमाकों के बाद श्रीलंकाई सुरक्षाबलों ने जिन 15 आतंकियों को मार गिराया था, उसमें जइनी हाशिम, रिलवान हाशिम और उनके पिता मोहम्मद हाशिम भी ढेर हुए हैं. ये तीनों हमले के मुख्य आतंकी के अब्बू व भाई हैं. पुलिस सूत्रों ने कहा कि ज़ेनी हाशिम, रिलवान हाशिम और उनका पिता मोहम्मद हाशिम शुक्रवार को पूर्वी तट पर सेना के साथ मुठभेड़ में मारे गए. इन्हें सोशल मीडिया पर एक वीडियो में देखा गया था, जिसमें ये श्रीलंका में आतंकी बम धमाके के बाद लोगों के बीच नफरत भड़काने की कोशिश कर रहे थे, काफिरों के खिलाफ चौतरफा जंग की अपील कर रहे थे.

खाने पर वीडियो जारी करने के समय तेज बहादुर यादव की फेसबुक फ्रेंड लिस्ट में थे 500 पाकिस्तानी..

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share