Breaking News:

श्रीलंका में हुआ खुला चेलेंज.. जिसमें एक शब्द है “इस्लामिक” और दूसरा है छोड़ेंगे नहीं


ईस्टर के दिन श्रीलंका के चर्चों तथा होटलों पर इस्लामिक आतंकियों के क्रूरतम हमले के बाद अब जवाबी कार्यवाई शुरू हो गई है. एकतरफ श्रीलंकाई सुरक्षाबल चुन-चुन कर आतंकियों को निशाना बना रहे हैं तो वहीं श्रीलंकाई जनता भी इस्लामिक कट्टरपंथियों के खिलाफ मुख्यर हो गई है. अमेरिका ने खुलकर कहा है श्रीलंका में हुए घातक बम विस्फोटों के लिए ‘इस्लामी कट्टरपंथी आतंकवाद’ जिम्मेदार है तथा वह इनको छोड़ेगा नहीं.

महिला को फिर ‘माल’ बोला कांग्रेसी नेता ने.. जबकि राहुल गांधी वादा कर रहे नारी की सुरक्षा व स्वाभिमान का

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने सोमवार को श्रीलंका में हुए जघन्य आतंकवादी हमलों की कड़ी निंदा करते हुए संकल्प लिया कि उनका देश ‘कट्टरपंथी इस्लामी आतंक’ और इससे पैदा हो रहे ‘दुष्ट इंसानों’ से लड़ना जारी रखेगा. उन्होंने कहा कि जो दिन ईस्टर जैसे खुशी के त्योहार का था वह इस्लामी कट्टरपंथी आतंक के चलते मातम में बदल गया. पोम्पियो ने कहा कि अमेरिका चुप नहीं बैठेगा तथा ‘कट्टरपंथी इस्लामी आतंक’ से लड़ना जारी रखेगा.

जानिये किस पार्टी का प्रचार कर रहे हैं WWE के पहलवान ग्रेट खली.. प्रत्याशी से ज्यादा उन्हें देख रही भीड़

बता दें कि श्रीलंका में हुए हमलों के बाद अभी भी खतरा बना हुआ है. श्रीलंका की सरकार ने इन हमलों के लिए एक स्थानीय इस्लामी आतंकी संगठन तौहीद जमात को जिम्मेदार ठहराया है. सरकार का मानना है कि इन हमलावरों को अंतरराष्ट्रीय आतंकियों से भी मदद मिली थी. पोम्पियो ने विस्फोटों पर बात करते हुए सोमवार को कहा, ‘दुख की बात यह है कि यह बुराई विश्व में अब भी मौजूद है. यह अमेरिका की भी लड़ाई है.’

श्रीलंका में मुसलमानों के खिलाफ सेना और पुलिस को मिला ये नया आदेश.. जबकि भारत से ख़त्म करने की तैयारी है देशद्रोह का क़ानून

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share