इजरायल की धमकी पिघले शीशे की तरह पड़ी युद्ध के उन्मादी मुस्लिम देशों के कानों में.. उन्हें पता है कि “इजरायल जो कहता है वो करता है”


बेंजामिन नेतन्याहू.. इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू.. ये वो नाम है जिसके स्मरण मात्र से ही इस्लामिक आतंकी कांपने लगते हैं,. इस्लामिक आतंकियों के खिलाफ बेहद ही क्रूर तथा आक्रामक रुख के कारण संपूर्ण इस्लामिक जगत की आँखों की किरकिरी बनी इजरायल के प्रधानमन्त्री बेंजामिन नेतन्याहू ने अब एक ऐसा बयान दिया है, जिससे न सिर्फ इस्लामिक जगत बल्कि यूएन तक में खलबली मच गई है.

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इस्लामिक चरमपंथियों के खिलाफ एक और खुली जंग की चेतावनी दे दी है. नेतन्याहू की इस चेतावनी के बाद दुनिया में हड़कंप मच गया है. नेतन्याहू ने कहा है कि गज से हो रहे रॉकेट हमलों के कारण क्षेत्र में आतंकवादियों के खिलाफ एक और जंग जरूरी हो गई है. देश में जल्दी ही राष्ट्र स्तरीय चुनाव होने हैं और उसके कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री का यह महत्वपूर्ण बयान आया है. नेतन्याहू ने कहा कि हमले रोकने की हमास शासकों की अनिच्छा को देखते हुए गाजा पर हमला करने के लिए योजनाएं तैयार हैं और वह उचित समय का फैसला करेंगे.

नेतन्याहू ने कान रेशेट बेट रेडियो के साथ एक इंटरव्यू में कहा कि मैं तब तक युद्ध नहीं करता जब तक कि यह आखिरी उपाय न हो और मैं सिर्फ वाहवाही हासिल करने के लिए अपने सैनिकों और नागरिकों की जान जोखिम में नहीं डालता. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ बैठक के लिए रूस जाने से कुछ समय पहले उन्होंने कहा कि हमारे पास गाजा में आतंकी ताकतों के खिलाफ एक बड़ी मुहिम चलाने के अलावा शायद कोई विकल्प नहीं होगा. हम तैयार होने से एक मिनट पहले इसे शुरू नहीं करेंगे और हम एक ‘अलग युद्ध’ की तैयारी कर रहे हैं.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share