पाकिस्तान ने अब जो खुद कबूला, वो जवाब है उस विपक्ष को जो कभी कहता था कि- “मोदी विदेश जाते क्यों हैं”

भारत के विपक्षी दल तथा पीएम मोदी के विरोधी अक्सर सवाल खड़े करते रहते थे कि मोदी जी इतनी विदेश यात्राएं क्यों करते हैं? पीएम मोदी जब जब विदेश यात्राओं पर गए, विपक्ष तथा कथित बुद्धिजीवियों ने न सिर्फ इस पर सवाल उठाये बल्कि पीएम मोदी का मजाक भी उड़ाया. लेकिन पीएम मोदी की इन विदेश यात्राओं से देश को क्या फायदा हुआ है, इसका जवाब पीएम मोदी या उनके किसी मंत्री ने नहीं बल्कि उस पाकिस्तान ने दिया है, जो कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद बौखलाया हुआ है.

गौरतलब है कि कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान दुनिया को भारत के खिलाफ करने की कोशिश कर रहा है, मामले को इंटरनैशनल फोरम पर उठाने की कोशिशें कर रहा है, लेकिन उसे दुनिया के देशों से भाव नहीं मिल रहा है. जम्मू-कश्मीर को लेकर पाकिस्तान का प्रॉपेगैंडा किस तरह से फेल हुआ है, इसका जिक्र खुद उसके विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने भी किया है. पाक अधिकृत जम्मू-कश्मीर की राजधानी मुजफ्फराबाद में मीडिया से बात करते हुए कुरैशी ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भी हमें समर्थन मिलना मुश्किल है.

कुरैशी ने कहा कि हमें मूर्खों के स्वर्ग में नहीं रहना चाहिए. पाकिस्तानी और कश्मीरियों को यह जानना चाहिए कि कोई आपके लिए नहीं खड़ा है. आपको जद्दोजहद करना होगा. यही नहीं उन्होंने पाकिस्तान की राह मुश्किल बताते हुए कहा, ‘जज्बात उभारना बहुत आसान है, मुझे दो मिनट लगेंगे. 35-36 साल से सियासत कर रहा हूं, बाएं हाथ का काम है. जज्बात उभारना आसान है, ऐतराज उससे भी आसान है. लेकिन, मसले को आगे की तरफ ले जाना कठिन है.’

दुनिया भर से समर्थन न मिलने से बौखलाए पाक के विदेश मंत्री ने कहा कि वे आपकी तरफ हार लेकर नहीं खड़े हैं. सुरक्षा परिषद में कश्मीर मुद्दा उठाने की बात करने वाले पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा, ‘देखिए, जो सिक्यॉरिटी काउंसिल के 5 स्थायी सदस्य हैं. उनमें से कोई भी वीटो पावर का इस्तेमाल कर सकता है.’ यही नहीं कुरैशी ने मुस्लिम देशों के किनारा करने को लेकर भी टिप्पणी की. कुरैशी ने कहा कि दुनिया के उनके साथ हित जुड़े हुए हैं. एक अरब की मार्केट है. बहुत से लोगों ने वहां इन्वेस्टमेंट कर रखे हैं. हम उम्मा की बात तो करते हैं, लेकिन कई मुस्लिम देशों ने भी वहां इन्वेस्टमेंट किया हुआ है, इसलिए सब चुप हैं.

Share This Post